loading...

कर्नाटक में मतदान थम चुका है और इसी के साथ शुरू हो चुका है चैनलों का एग्जिट पोल। जो ये बता रहा है की कौन सी पार्टी कर्नाटक में सरकार बनाने जा रही है। किसी एग्जिट पोल में कांग्रेस को आगे बताया जा रहा है तो किसी में बीजेपी। इसे लेकर टाइम्स नाउ ने अपना एग्जिट पोल नतीजा बता दिया है इसी के साथ कर्नाटक चुनाव में बीजेपी का चेहरा पीएम मोदी स्क्रीन से धीरे से हटा लिए गए है। बीजेपी कर्नाटक चुनाव पीएम मोदी के चेहरे पर लड़ रही थी ऐसा खुद बीजेपी ने अपने हर रैली में कहा मगर गोदी मीडिया के लोग पीएम मोदी की नाराज़गी का इतना ध्यान रखते है की शुरूआती रुझाने में जब बीजेपी को कम सीटें मिलनी शुरू हुई तो पीएम मोदी की तस्वीर हटा ली गई।

बता दें कि कर्नाटक में 2,600 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। 4.96 करोड़ से अधिक मतदाता उनका फैसला करेंगे। इन मतदाताओं में 2.52 करोड़ से अधिक पुरुष, करीब 2.44 करोड़ महिलाएं और 4,552 ट्रांसजेंडर शामिल हैं। राज्य में 55,600 से अधिक मतदान केंद्र बनाए गए थे। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जनता दल सेक्युलर ने चुनाव परिणाम आने से पहला अपना शुरुआती स्टैंड साफ कर दिया है। दरअसल जिस ढंग से एक्जिट पोल के नतीजे आ रहे हैं और उसमें कर्नाटक में इस बार त्रिशुंक विधानसभा रहने की बात कही जा रही, जिससे जेडीएस खुद को संभावित किंग मेकर की भूमिका में मानकर चल रही है। अटकलें लगतीं रहीं कि जेडीएस बीजेपी को समर्थन देकर गठबंधन सरकार बनवा सकती है मगर जेडीएस ने ऐसी किसी भी अटकलों को खारिज कर दिया है। एनडीटीवी से बातचीत में पार्टी के प्रवक्ता दानिश अली ने कहा कहा कि बीजेपी के साथ जाने का सवाल नहीं उठता। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस सौ से कम सीट पाती है तो उसकी जिम्मेदारी है कि वह समर्थन के लिए संवाद करे। बता दें कि कर्नाटक में अब तक नौ एक्जिट पोल हुए हैं। सभी पोल राज्य में त्रिशुंक विधानसभा होने के संकेत दे रहे हैं। किसी भी पार्टी को बहुमत के लिए 122 सीट जरूरी है। एक्जिट पोल्स में कांग्रेस भले ही बड़ी पार्टी के रूप में उभरती दिख रही है मगर उसे बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है। दरअसल चुनावी नतीजों को लेकर अटकलें पहले से ही लगाई जाने लगी है।

मगर इस बीच सबसे ज्यादा चालाकी का काम किया है टाइम्स नाउ जिसने कम सीट होने चलते पीएम मोदी की तस्वीर हटा दी है। बीजेपी कर्नाटक चुनाव पीएम मोदी के चेहरे पर लड़ रही थी ऐसा खुद बीजेपी ने अपने हर रैली में कहा मगर गोदी मीडिया के लोग पीएम मोदी की नाराज़गी का इतना ध्यान रखते है की शुरूआती रुझाने में जब बीजेपी को कम सीटें मिलनी शुरू हुई तो पीएम मोदी की तस्वीर हटा ली गई। फैसला 15 मई को आएगा लेकिन बीजेपी की हताशा अभी से ही आने वाले परिणाम की झलक दिखा रही है। दरअसल आज सुबह जब बीजेपी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार बी एस येदियुरप्‍पा वोट देकर बाहर आ रहे थें तब उनके चहरे पर गहरी हताशा नजर आयी। ऐसा लग रहा था मानों उनके अंदर की उम्मीद ने दम तोड़ दिया हो।

✍ शिल्पी सिंह

1 COMMENT

  1. कॉंग्रेस कर्नाटक में आना देश बचाने के लिये जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here