loading...

एक तरफ जहां कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर रस्साकशी चल रही है. दूसरी तरफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने अगले मिशन की तैयारी में लग गए हैं।

आज से राहुल गांधी अपने दो दिवसीय दौरे पर छत्तीसगढ़ जाएंगे। जहां वो कई तरह कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

राहुल अपने दो दिवसीय दौरे में किसानों और आदिवासियों के बीच पार्टी का आधार मजबूत करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे. छत्तीसगढ़ में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं. उसी समय मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी चुनाव होंगे.

कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पूनिया ने बताया कि राहुल गांधी का दो दिवसीय छत्तीसगढ़ दौरा हो रहा है. वह किसानों, आदिवासियों और समाज के दूसरे वर्गों के लोगों से मिलेंगे, उनका एक रोड शो भी होगा.

उन्होंने दावा किया, ‘‘रमन सिंह सरकार के कुशासन से किसान, मजदूर, आदिवासी और दूसरे सभी वर्गों के लोग परेशान हैं, लोग इस सरकार से मुक्ति चाहते हैं. कांग्रेस अध्यक्ष के दौरे से पार्टी की उम्मीदों को बहुत बल मिलेगा.’’

पुनिया के मुताबिक, राहुल 17 मई को पंचायतीराज सम्मेलन का रायपुर में उद्घाटन करेंगे. इसके बाद वह सीतापुर में किसान सम्मेलन में भाग लेंगे. 17 मई को पेंड्रा में जन अधिकार सभा को संबोधित करेंगे.

वह 18 मई को बिलासपुर संभाग के 24 विधानसभा के बूथ प्रभारियों से संवाद करेंगे, इसके बाद वह दुर्ग संभाग के 20 विधानसभा क्षेत्रों के बूथ प्रभारियों से बातचीत करेंगे. 18 मई की शाम को दुर्ग में गांधी और पटेल की प्रतिमा में मार्ल्यापण करने के बाद राहुल रोड शो करेंगे, यह रोड शो दुर्ग से रायपुर एयरपोर्ट तक होगा.

याद हो कि 2013 में थोड़ा आया अंतर से कांग्रेस सरकार बनाने से चूक गई थी जिसका कारण कांग्रेस का मध्यप्रदेश और राजस्थान के कारण छतीसगढ़ चुनाव पर कम ध्यान देना बताया गया था। इसलिये राहुल इस बार ऐसी गलती दोहराना नही चाहते हैं। क्योंकि कांग्रेस जिस तरह से एक के बाद एक राज्यो में पराजय का सामना कर रही है उसके बाद कार्यकर्ताओं में काफी निराशा है और मोदी के कांग्रेस मुक्त भारत को मुहर लग रहा है इसलिये राहुल अब भाजपा शासित राज्यो में भाजपा को उखाड़ फेंकने की संकल्प के साथ छतीसगढ़ से अभियान की शुरुआत कर रहे हैं।

✍ शिल्पी सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here