loading...

कर्नाटक चुनाव के रुझानों में बीजेपी की सीटें बहुमत के आंकड़े से कम हो गई हैं। बहुमत के लिए बीजेपी को 112 सीटें चाहिए, लेकिन रुझानों के अनुसार, बीजेपी को 106, कांग्रेस को 73 और जेडीएस को 41 सीटें मिल रही हैं।
कर्नाटक चुनाव के रुझानों में त्रिशंकु विधानसभा के आसार के बीच राज्य की अगली सरकार को लेकर अटकलें शुरू हो गई हैं। इस बीच केरल के सीएम पिन्नारई विजयन ने कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस को साथ आकर सरकार बनाने की सलाह दी है। मीडिया से बात करते हुए विजयन ने कहा कि बीजेपी को सत्ता से रोकने के लिए जेडीएस और कांग्रेस को एक साथ आकर सरकार बनाना चाहिए।
कर्नाटक चुनाव के रुझानों में बीजेपी की सीटें बहुमत के आंकड़े से कम हो गई हैं। बहुमत के लिए बीजेपी को 112 सीटें चाहिए, लेकिन रुझानों के अनुसार, बीजेपी को 106, कांग्रेस को 73 और जेडीएस को 41 सीटें मिल रही हैं।
कर्नाटक विधानसभा चुनाव के ताजा नतीजों और रुझानों से राज्य में त्रिशंकु विधानसभा के आसार नजर आ रहे हैं। रुझान अगर नतीजों में बदलते हैं तो राज्य में बीजेपी या कांग्रेस दोनों को ही सरकार बनाने के लिए जेडीएस के समर्थन की जरूरत होगी। हालांकि, जेडीएस सुप्रीमो और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा और उनके बेटे एचडी कुमारास्वामी की तरफ से अभी कोई बयान नहीं आया है। लेकिन बताया जा रहा है कि दोनों ही अपने घर पर पार्टी नेताओं के साथ बैठकर चुनाव नतीजों पर नजर बनाए हुए हैं। कहा जा रहा है कि देवगौड़ा अंतिम नतीजों के बाद ही इस परिणाम और अपनी पार्टी के रुख पर कोई बात करेंगे।
कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हमारी एचडी देवगौड़ा और कुमारस्वामी से फोन पर बातचीत हुई है और उन्होंने हमारे प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है।
कर्नाटक चुनाव के नतीजों के बाद पैदा हुई स्थिति को देखते हुए कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन देने का ऐलान किया है। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, अशोक गहलोत और मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने मीडिया से बात करते हुए इस बात की जानकारी दी। बहुमत से कुछ कदम दूर खड़ी भाजपा के लिए सबसे बड़ा सदमा होगा कि जेडीएस और कांग्रेस मिलकर साथ में सरकार बना लें। पिछले चुनावों से सबक लेते हुए कांग्रेस ने पहले से ही इसकी तैयारी कर ली थी और दिल्ली से गुलाम नबी आजाद को भेज कर जेडीएस से संपर्क साधा। गुलाम नबी आजाद ने जेडीएस के साथ हालांकि बड़ी संभावना जताई जा रही है कि जेडीएस सिर्फ इस शर्त पर मानी है कि कुमार स्वामी मुख्यमंत्री होंगे। भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस संभवतः इस शर्त को भी स्वीकार रही है। मिलकर सरकार बनाने का ऑफर किया है। वर्तमान स्थिति में कांग्रेस और जेडीएस मिलने पर 114 सीटें हो जाएंगी जो बहुमत के आंकड़े 112 से ज्यादा है। आपको बता दें कि भले ही अब तक के मजगणना में भारतीय जनता पार्टी वोटों हासिल करने में सबसे आगे चल रही है लेकिन कांग्रेस का वोट प्रतिशत बीजेपी से आगे चल रहा है। इसके बाद ही जो अब ताजा जानकारी सामने आ रही है उसके मुताबिक जेडीएस ने भी कांग्रेस पार्टी का गठबंधन करने का यह ऑफर स्वीकार कर लिया है। जिसके साथ ही अब देखना दिलचस्प होने वाला है कि बहुमत न मिलने पर तो बीजेपी का सरकार बनाना पूरी तरह से असंभव है।
जेडीएस प्रवक्ता दानिश अली ने कहा है कि कांग्रेस ने एचडी कुमारास्वामी को सीएम बनाने की पेशकश की थी, जिसे जेडीएस ने मंजूर कर लिया है। इसके बाद जेडीएस ने कांग्रेस के साथ राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करने का फैसला किया है।

✍ सिंह शिल्पी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here