loading...

मोदी जी के 4 साल की सरकार में उन्होंने कुछ नही किया जो भी करते थे अपने लिए अच्छा खाया अच्छा विदेश घूमा।

मोदी सरकार के चार साल को कांग्रेस ‘विश्वासघात दिवस’ के रूप में मना रही है। इस मौके पर कांग्रेस ने ‘विश्वासघात’ के नाम से एक बुकलेट जारी किया है। बुकलेट में चार सालों के दौरान मोदी सरकार की नाकामियों के बारे में बताया गया है। बुकलेट जारी करते हुए कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि आजादी के बाद बीते चार साल देश के सबसे खराब दौर रहे हैं। गहलोत ने देश के हर गांव में बिजली पहुंचाने के दावे पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा, “देश में करीब 6 लाख गांव हैं, अगर 18 हजार गांवों में मोदी जी ने बिजली पहुंचाई तो फिर 5 लाख 82 हजार गांवों में बिजली किसने पहुंचाई? मोदी जी झूठ बोलने की सारी हदें पार कर चुके हैं।” कांग्रेस महासचिव ने कहा कि देश में चार सालों में डर का माहौल पैदा हुआ है। मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के दिन भी पेट्रोल और डीज़ल के दाम बढ़े हैं। 13 मई से 26 मई के बीच पेट्रोल के दाम में 3.86 रुपये और डीज़ल के दाम में 3.26 रुपये की वृद्धि हो गई है। कर्नाटक चुनाव ख़त्म होते ही अख़बारों ने लिख दिया था कि चार रुपये प्रति लीटर दाम बढ़ेंगे, करीब करीब यही हुआ है। यानी दाम बढ़ाने की तैयारी थी लेकिन अमित शाह ने बोल दिया कि सरकार घटाने पर प्लान बना रही है। एक दो दिन से ज़्यादा बीत गए मगर कोई प्लान सामने नहीं आया। हम सब समझते हैं कि तेल के दाम क्यों बढ़ रहे हैं मगर सरकार में बैठे मंत्री को ही बताना चाहिए कि विपक्ष में रहते हुए 35 रुपये प्रति लीटर तेल कैसे बिकवा रहे थे। आज के झूठ की माफी नहीं मांग सकते तो पुराने बोले गए झूठ की माफी मांग सकते हैं।

जिस तरह से सोशल मीडिया पर कुतर्कों को जाल बुना गया है, वह बताता है कि यह सरकार जनता की तर्क बुद्धि का कितना सम्मान करती है। मोदी सरकार को सत्ता में आये चार साल गुजर चुके है। अब इन चार साल में जनता बेहाल रही या खुशहाल ये अगले चुनाव में ही पता लगेगा।

मगर नरेंद्र मोदी ने बतौर प्रधानमंत्री पद की गरिमा गिराई है ऐसा कहना है राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का, उन्होंने कहा जितना नुकसान प्रधानमंत्री पद का खुद मोदी जी ने गिराया है वैसा किसी भी प्रधानमंत्री ने नहीं किया है। दरअसल, पिछले चार सालों में मोदी सरकार 11 बार पेट्रोल और डीज़ल एक्साइज ड्यूटी बढ़ा चुकी है। इस दौरान अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम कम थे। लेकिन अब जब अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम बढ़ रहे हैं तो सरकार उस तेज़ी से एक्साइज ड्यूटी नहीं घटा रही है। सरकार ने सिर्फ गुजरात चुनाव से पहले ड्यूटी कम की थी और उसकी जगह भी 2% सेस लगा दिया था।

मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि बीजीपी ने देश को सबसे ज्यादा मेहनत करने वाला प्रधानमंत्री दिया है, जो 15 से 18 घंटे तक काम करते हैं।

जवाब में कांग्रेस ने कहा मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर कांग्रेस ने योजनाओं को लेकर केंद्र सकार को घेरा है। कांग्रेस ने ट्वीट किया, “4 साल पहले वादा किया, योजनाओं के विज्ञापन पर खूब पैसा भी बहाया लेकिन योजना पर खर्च नहीं किया और पैसा बेकार पड़ा रहा। क्या इसे खोटी नीयत, खोटा विकास नहीं कहते?”

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि 1996 के बाद से मोदी सरकार के पिछले 4 साल के दौर में सबसे ज्यादा सैनिक और आम नागरिकों की जान गई है। आजाद ने कहा, “राष्ट्रीय सुरक्षा ऐसा क्षेत्र है जिस पर पीएम मोदी ने चुनाव प्रचार के समय ढेर सारी बातें की थी और उन्हें इस मुद्दे पर सबसे ज्यादा वोट मिले थे, लेकिन वे इस मुद्दे पर नाकाम रहे हैं।

मोदी सरकार के चार साल पूरे हो गए हैं। सरकार के 4 साल पूरे होने के मौके पर बीजेपी जश्न मना रही है और सरकार की उपलब्धियों को गिना रही है। वहीं मोदी सरकार को हर मोर्चे पर नाकाम बता रहा है। बीएसी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि इन चार सालों में केंद्र सरकार हर मोर्चे पर नाकाम रही है। कुल मिलाकर सब की राय ये है कि मोदीजी ने 4 साल में देश का बंटाधार ही किया है और चार 4 साल मोदी जी ने जनता के लिए कुछ नही किया सिर्फ अपने लिए जीए है।

शिल्पी सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here