loading...

इन दिनों अपनी अलग राजनीतिक पहचान के लिए पहचाने जाने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से एम्स मिलने पहुंचे हैं। पिछले काफी दिनों से अस्वस्थ चल रहे पूर्व प्रधानमंत्री को सोमवार को एम्स में भर्ती कराया गया ।

देश के पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठतम नेता अटल बिहारी वाजपेयी को सोमवार दोपहर नियमित जांच के लिए दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया है। इस बीच शाम को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उन्हें देखने एम्स पहुंचे। हालांकि, डॉक्टरों का कहना है कि किसी को भी वाजपेयी से मिलने की इजाजत नहीं है। राहुल गांधी ने डॉक्टरों और परिवार के लोगों से वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली।

राहुल गांधी के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा भी भी वाजपेयी को देखने अस्पताल पहुंचे। उनके बाद पीएम नरेंद्र मोदी भी एम्स पहुंचे।

राहुल गाँधी पूर्व प्रधानमंत्री से तब मिलने पहुंचे हैं जब उनकी पार्टी का कोई बड़ा नेता देश के पहले गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री से मिलने नहीं पहुंचा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शाम करीब छह बजे को उनसे मिलने पहुंचे। कुछ देर अस्पताल में गुजारने के बाद राहुल लौट गए।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एम्स पहुंचकर अटल बिहारी वाजपेयी से मुलाकात की। राहुल ने अटल से मिलकर उनका हालचाल भी जाना।
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के स्वास्थ्य को लेकर एम्स की तरफ से हेल्थ बुलेटिन में बताया गया है कि पूर्व पीएम की स्वास्थ्य सामान्य है और उनकी छुट्टी को लेकर अस्पताल फैसला करेगा। वाजपेयी के चेकअप एम्स डायरेक्टर रणदीप गुलरिया की देखरेख में हो रहे हैं। एम्स की ओर से बताया गया है कि वाजपेयी इस समय कॉर्डियो न्यूरो सेंटर में हैं।

बाजपेयी से राहुल की मुलाकात के बाद अब मोदी और उनके मंत्रियों को शर्म आई है, वो भी पूर्व प्रधानमंत्री से मिलने एम्स पहुंचे । पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की देखभाल का जिम्मा उनके सबसे करीबी सहयोगी शिव कुमार शर्मा के पास है. वाजपेयी के 93वें जन्मदिन पर बीबीसी को दिए इंटरव्यू में शिव कुमार शर्मा ने बताया था कि कभी देश के सबसे अच्छे वक्ता रहे वाजपेयी अब बोल नहीं पाते हैं।

अगर कोई बीजेपी का पुराना नेता उनसे मिलता है, तो आंखों और इशारे से ही वो बता देते हैं कि उन्होंने उसे पहचान लिया है या नहीं. इसके अलावा वाजपेयी की देखभाल के 24 घंटे डॉक्टरों की एक टीम तैनात रहती है. इसके अलावा चार फिजियोथेरेपिस्ट हर रोज पूर्व प्रधानमंत्री की फिजियोथेरेपी करते हैं. इसके अलावा उन्हें सिर्फ लिक्विड डाइट ही दी जाती है।

अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत पिछले लंबे समय से खराब चल रही है, जिस वजह से उन्होंने काफी पहले ही घर के बाहर निकलना छोड़ दिया है। 93 वर्षीय अटल बिहारी वाजपेयी डिमेंशिया नाम की बीमारी से जूझ रहे हैं और 2009 से व्हीलचेयर पर हैं। उनका रूटीन चेकअप अब तक घर पर ही होता रहा है। बताया जा रहा है कि डॉक्टरों की सलाह के बाद इस बार उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया है। राहुल गांधी अटल बिहारी वाजपेयी का स्वास्थ्य का हाल जानने सीधे एम्स गए। ये संस्कार है जबकि बीजेपी के लोग राहुल की मां की बीमारी का मज़ाक उड़ाते हैं। यह इनके सांस्कार।

जब सुषमा स्वराज की किडनी बदली गयी थी तब भी राहुल उनके पास एम्स गए थे,वह भी बगैर मीडिया को हल्ला किये।

✍ शिल्पी सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here