फिरोज गाँधी के धर्म पर आरएसएस के झूठ से बचिये , इसको पूरा पढिये

0
6626
loading...

आमतौर पर माना जाता है कि पारसी समाज कुल मिलाकर मुंबई या महाराष्ट्र में ही बसा हुआ है। हालांकि हकीकत ये है कि कुछ पारसी परिवार देश के सभी खास शहरों में हैं। इनमें उत्तर प्रदेश का इलाहाबाद भी है। हालांकि इधर टाटा, वाडिया या गोदरेज सरीखे नामवर पारसी परिवार तो कोई नहीं रहते, पर कुछेक परिवार अब इधर रहते हैं इस समाज से जुड़े हुए।

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पति फिरोज गांधी भी इसी प्रयाग शहर से ताल्लुक रखते थे। यानी पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के पिता का संबंध इलाहाबाद से ही था। यानी सोनिया गांधी के ससुर और राहुल गांधी के दादा फिरोज गांधी।
इलाहाबाद के स्टेनले रोड पर एक पारसी कब्रिस्तान भी है। इधर ही फिरोज गांधी की अस्थियों को दफन किया गया था। उनका अंतिम संस्कार तो दिल्ली में हुआ था, पर उनकी कुछ अस्थियों को इधर दफन किया गया था।

कृपया RSS की कुंठात्मक सोच से बाहर कभी नही निकलने देगा अब राहुल के कौल दत्तात्रेय गौत्र पर उनके दादा ओर इंदिरा गांधी के पति फिरोज गांधी पर पोस्ट डाल रहे हैं लेकिन जनता को मूर्ख बनाने से पहले सच्चाई से अवगत कराना हमारा फ़र्ज़ बनता है!
केवल नाम फ़िरोज़ होने से या उसमें जहाँगीर जोड़ देने से कोई व्यक्ति मुस्लिम नही हो जाता जैसे
परमाणु विज्ञानी डाक्टर होमी जहाँगीर भाभा मुस्लिम नही पारसी थे
उसी तरह पूर्व चीफ़ जस्टिस मार्कण्डेय काट्जू साहब हिन्दू नही पारसी है !
वैसे ही फिरोज जहाँगीर गांधी मुस्लिम नही पारसी है !

पारसी कब्रगाह को मुस्लिम कब्रिस्तान बताने वालों.. कल योगी आदित्यनाथ ने हनुमानजी को दलित बता दिया था
झूठ,जुमलेबाजी और मक्कारी में संघी भाजपाइयों की मास्टरी है कल हनुमान जी को दलित बता रहे थे आज ये नया शगूफा देश को धर्म और जातिवाद में बांटने वालों जरा बताएंगे कि मोदी जी के पिता जी कौन थे उनकी पृष्ठभूमि क्या थी ?
नही बता सकते कि मोदी जी के पिता क्या थे जब खुद मोदीजी अपने पिता का जिक्र नही करते।क्योंकि उनके पिता को कांग्रेसी थे और इंदिरा जी के वक़्त कांग्रेस के लिए काम करते थे। जिस वडनगर का दम मोदी जी भरते है चाय बेचने का वो इंदिरा जी ने ही मोदीजी के पिता को दिलवाई थी।संघी लोग कुछ बोलने से पहले हजार  बार सोच लेना।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here