तो क्या कर्नाटक में टूट जाएगा येद्दियुरप्पा का सपना , कुमारस्वामी ने दिया BJP को झटका

0
18820
loading...

कर्नाटक विधानसभा का आंकड़ा ही कुछ ऐसा है कि वहां पर कुछ न कुछ घटनाक्रम चलता रहेगा , सरकार में कोई भी मगर उस पर सरकार बचाने को लेकर हमेशा दबाब रहेगा।

कर्नाटक में एक महीने तक चला सियासी नाटक अब तक सही ढंग से खत्म नही हुआ है। कुमारस्वामी सरकार के फ्लोर टेस्ट में फेल होने के बाद बीएस येदियुरप्पा ने चौथी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

अब येदियुरप्पा 29 जुलाई को विधानसभा में बहुमत साबित करेंगे। लेकिन उनकी राह इतना भी आसान नही होने वाली है क्योंकि जो आंकड़ा विधानसभा में है उसे देखते हुए अगर विधायकों की महत्वकांक्षा पूरी नही हुई तो वो येद्दियुरप्पा को भी कुमारस्वामी वाले मुश्किल हालात में डाल सकते हैं।

इसी बीच एक ऐसी खबरें सामने आई थी की जिससे बीजेपी और येद्दियुरप्पा चैन की सांस ले सकते थे पर उस खबर को भी कुमारस्वामी ने अफवाह बताकर बीजेपी को झटका दे दिया।

खबर चल रही थी जेडीएस के विधायकों ने पूर्व सीएम कुमारस्वामी से बीजेपी को समर्थन करने के लिए कहा है लेकिन खुद कुमारस्वामी ने सामने आकर ऐसी किसी संभावना को खारिज कर दिया है।

कर्नाटक के पूर्व CM और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने बीजेपी से हाथ मिलाने की खबरों को खारिज करते हुए कहा की ‘विधायकों और पार्टी कार्यकर्ताओं को ऐसी अफवाहों पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है जो सच्चाई से दूर है। हम ‘जनसेवा’ द्वारा पार्टी का निर्माण करेंगे। आम आदमी के लिए हमारी लड़ाई जारी रहेगी।”

यह बयान पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के उस ट्वीट पर आया है जिसमें उन्होंने समर्थन की अटकलों के बारे में खबरों का खंडन किया था।

कुमारस्वामी ने कहा की मैंने बीजेपी के साथ हाथ मिलाने के बारे में निराधार खबरें देखी हैं। यह निराधार है। हमारे विधायकों और पार्टी कार्यकर्ताओं को ऐसी अफवाहों पर ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है, जो सच्चाई से बहुत दूर हैं।

खबर ऐसी भी थी कि शुक्रवार को रात हुई बैठक में जेडीएस के विधायकों के बीच मतभेद नजर आए थे। कुछ विधायकों ने एचडी कुमारस्वामी से कर्नाटक में बीजेपी सरकार में शामिल होकर या बाहर से समर्थन देने की मांग उठाई। हालांकि, विधायकों ने आखिरी फैसला कुमारस्वामी पर छोड़ दिया था पर कुमारस्वामी ने सरकार को किस बबए हालात में समर्थन नही करने का फैसला लिया है।

जेडीएस के समर्थन बीजेपी को सरकार में बने रहने में आसानी हो जाती मगर कुमारस्वामी के फैसले से बीजेपी को झटका लगा है अब देखना है येद्दियुरप्पा अपने सभी विधायकों के महत्वाकांक्षा को कैसे पूरा करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here