प्रियंका गांधी ने फिर एक बार यूपी सरकार पर किया प्रहार , कहा सरकार भरोसा दिलाने में नाकामयाब

0
66
loading...

बीजेपी नेताओं पर आए दिन महिलाओ के खिलाफ हिंसा और बलात्कार का मामला सामने आ रहा है। अभी उन्नाव के विधायक द्वारा लड़की के साथ बलात्कार के बाद उसके परिवार को मारने का मामला पुराना भी नही हुआ था कि भाजपा के एक और नेता पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर भी ये आरोप लगा है कि जिस लड़की ने चिन्मयानंद के खिलाफ शोषण का मामला दर्ज करवाया था उसे ही गयाब करवा दिया गया है।

इस मामले में प्रियंका गांधी वाड्रा ने भाजपा सरकार को एक बार फिर आड़े हाथों लिया है। यूपी की योगी सरकार को निशाने पर लेते हुए प्रियंका गांधी ने ट्वी
ने इस मामले पर ट्वीट कर कहा है, ”उत्तर प्रदेश में एक दिन भी ऐसा नहीं बीतता जिस दिन बीजेपी सरकार महिलाओं को ये भरोसा दिलाने में कामयाब हो कि आप सुरक्षित हैं और अगर आपके साथ कोई घटना घटती है तो आपको न्याय मिलेगा.”

प्रियंका गांधी, कांग्रेस महासचिव”आवाज उठाने वाली लड़की लापता है या कर दी गई है? उसके साथ क्या हो रहा है कोई नहीं जानता।

आखिर ये कब तक चलेगा? उत्तर प्रदेश में ये उन्नाव मामले जैसा ही दोहराव लग रहा है. अगर कोई महिला बीजेपी नेता के खिलाफ शिकायत करती है, तो उसको न्याय मिलना तो दूर की बात, उसकी खुद की सुरक्षा की भी गारंटी नहीं रहती.”
क्या है मामला?

24 अगस्त से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज की एक छात्रा ने चिन्मयानंद पर उत्पीड़न के आरोप लगाते हुए कहा था कि उन्होंने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद की है. बता दें कि आरोप लगाने वाली लड़की जिस एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा है, चिन्मयानंद उसके डायरेक्टर हैं.

आरोप लगाने वाली छात्रा मैं (अपना नाम बताते हुए) शाहजहांपुर से हूं और एसएस कॉलेज से एलएलएम की पढ़ाई कर रही हूं. संत समाज का एक बड़ा नेता, जिसने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद की है, मुझे जान से मारने की धमकी दे रहा है. मेरे पास उसके खिलाफ पूरे सबूत हैं. मैं मोदी जी और योगी जी से मेरी मदद करने की गुजारिश करती हूं. उसने मेरे परिवार को भी जान से मारने की धमकी दी है. सिर्फ मुझे मालूम है कि क्या चल रहा है. मोदी जी, प्लीज मेरी मदद कीजिए, वो एक सन्यासी है और धमकी दे रहा है कि पुलिस, डीएम और बाकी सब उसकी तरफ हैं. मैं आप सभी से इंसाफ की गुजारिश करती हैं.’
यह वीडियो सामने आने के बाद से ही आरोप लगाने वाली छात्रा लापता है. छात्रा के पिता का आरोप है कि उसे स्वामी चिन्मयानंद ने ही अगवा कराया है. अब पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर छात्रा के अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

हालांकि चिन्मयानंद के वकील ने छात्रा के पिता के आरोपों को खारिज किया है और कहा है कि यह चिन्मयानंद को ब्लैकमेल करने की साजिश है. दरअसल इस मामले में चिन्मयानंद के पक्ष का दावा है कि 22 अगस्त को चिन्मयानंद के वॉट्सएप नंबर पर एक मैसेज आया था, जिसमें उनसे 5 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी गई थी. चिन्मयानंद का पक्ष इसी मैसेज के आधार पर ब्लैकमेल किए जाने के आरोप लगा रहा है।

बीजेपी के कई नेता पर इस तरह के आरोप लग रहे हैं इसके बाद अब बीजेपी द्वारा उनके नेताओ के चुनाव पर भी सवाल उठ रहा कि आखिर सत्ता के नशा में बीजेपी महिलाओ के खिलाफ अपराध करने वालो को क्यों प्रश्रय दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here