कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक मैं फैसला सोनिया गांधी बनी अंतरिम अध्यक्ष

0
298
loading...

राहुल गांधी के इस्तीफा के बाद खाली चल रहे कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए शनिवार को CWC की बैठक हुई जिसमे नए अध्यक्ष के चुने जाने तक सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष चुना गया।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी के हाथों में फिलहाल पार्टी की कमान सौंपी गई है. CWC की बैठक में सोनिया को पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किया गया है. सोनिया गांधी इससे पहले 1998 से 2017 तक पार्टी की अध्यक्ष रहीं थी.

कांग्रेस कार्यसमिति की शनिवार रात यहां हुई बैठक में एकमत से अगले अध्यक्ष के चुनाव तक पार्टी की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष बनाने पर सहमति बनी है. सोनिया गांधी ने कार्यसमिति के इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है.

कांग्रेस कार्यसमिति की शनिवार को दूसरी बार हुई बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए गए. प्रस्तावों की जानकारी देते हुए कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कार्यसमिति ने एकमत होकर अखिल भारतीय कांग्रेस कार्यसमिति के सत्र में अगला अध्यक्ष चुने जाने तक सोनिया गांधी से अंतरिम अध्यक्ष का पद संभालने का अनुरोध किया है.

राहुल गांधी के इस्तीफा वापस लेने से इनकार करने के बाद CWC ने शनिवार को सोनिया गांधी को कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनाने का फैसला लिया. कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के बाद वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सोनिया गांधी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष होंगी. इससे पहले शनिवार को दो बार सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई जिसमें नेताओं ने राहुल से इस्तीफा वापस लेने का आग्रह किया, लेकिन उन्होंने साफ इनकार कर दिया. राहुल के नहीं मानने के बाद सीडब्ल्यूसी ने सोनिया को अंतरिम अध्यक्ष बनाने का फैसला लिया.

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कांफ्रेंस में जानकारी दी कि CWC की बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए गए-

पहला प्रस्ताव- कांग्रेस कार्यसमिति ने राहुल गांधी के नेतृत्व के लिए उनकी प्रशंसा की और उनका धन्यवाद किया. राहुल गांधी ने हर रोज देश के किसान, मजदूर, व्यवसायी, महिलाओं, युवाओं, अल्पसंख्यकों और हर गरीब वर्ग की आवाज बनकर उभरे. पूरे देश में भय और हिंसा के वातावरण के खिलाफ हमेशा आवाज उठाई.

दूसरा प्रस्ताव- CWC ने कांग्रेस के सांसदों, विधायकों और अलग अलग पदाधिकारियों के विचार दिन भर सुने. उन सबके विचार सुनने के बाद कांग्रेस कार्यसमिति ने ये प्रस्ताव पारित किया कि कांग्रेस के हर व्यक्ति की ये इच्छा है कि राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष बने रहें. इसलिए CWC ने राहुल जी से अनुरोध किया कि वो अध्यक्ष बने रहें. लेकिन राहुल जी ने विनम्रता से इस अनुरोध को ठुकराया और कहा कि जवाबदेही की शुरुआत उनसे ही होनी चाहिए.

तीसरा प्रस्ताव- उसके बाद कांग्रेस कार्यसमिति ने एक स्वर में ये फैसला किया कि सोनिया गांधी जी को कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनाया जाए, जब तक पार्टी के नए अध्यक्ष का चुनाव नहीं हो जाता.

भारत की आजादी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद पर आसीन रह चुके नेताओं के नाम इस प्रकार हैं :
1 आचार्य कृपलानी (1947-1948)

2 पट्टाभि सीतारमैया (1948-1950)

3 पुरषोत्तम दास टंडन (1950-1951)

4जवाहरलाल नेहरू(1951-1955)

5 यू. एन. धेबर (1955-1959)

6 इंदिरा गांधी (1959-1960 और 1978-84)

7नीलम संजीव रेड्डी (1960-1964)

8 के. कामराज (1964-1968)

9 एस. निजलिंगप्पा (1968-1969)

10 पी. मेहुल (1969-1970)

11 जगजीवन राम (1970-1972)

12 शंकर दयाल शर्मा (1972-1974)

13 देवकांत बरुआ (1975-1977)

14 राजीव गांधी (1985-1991)

15 कमलापति त्रिपाठी (1991-1992)

16 पी. वी. नरसिंह राव (1992-1996)

17 सीताराम केसरी (1996-1998)

18 सोनिया गांधी (1998-2017)

20 राहुल गांधी (2017-2019)

गौरतलब है कि सोनिया गांधी 1998 से 2017 तक पार्टी की कमान संभाल चुकी हैं. सोनिया गांधी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद राहुल गांधी ने पार्टी की कमान संभाली थी. राहुल के नेतृत्व में ही पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2019 का चुनाव लड़ा था. इसमें पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here