केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा अगर काम समय पर ना हुआ तो धुलाई करवा दूंगा

0
82
loading...

मोदी सरकार के मंत्री और बीजेपी नेता नितिन गडकरी ने अफसरों को हिदायत देते हुए जनता से पीटे जाने की धमकी दी है और जनता को अफसरों को पीटने के लिए उकसाया है।

दरसल केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का आरएसएस के एक कार्यक्रम में दिया बयान सुर्खियों में है. उन्होंने अफसरों को हिदायत देते हुए कहा है कि अगर उन्होंने आठ दिनों में यह काम पूरा नहीं किया तो वे लोगों से कहेंगे कि कानून व्यवस्था हाथ में लेकर धुलाई कर दो। इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर इसको लेकर खूब चर्चा हो रही है जहां कुछ लोगो अफसर के लेट-लतीफी के लिए ऐसे बयानों को सही बता रहे हैं तो कुछ लोग जनता को हिंसक भीड़ बनाने को लेकर आलोचना भी कर रहे हैं।

नितिन गडकरी ने ये बयान लघु उद्योग भारती के नागपुर में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन में कही. वह दरअसल लालफीताशाही पर नाराजगी व्यक्त कर रहे थे.

एमएसएमई सेक्टर में काम करने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुडे़ संगठन लघु उद्योग भारती के कार्यक्रम में नितिन गडकरी ने कहा कि उन्होंने हाल में कुछ अधिकारियों को चेतावनी दी कि अगर कुछ मामले नहीं सुलझते हैं तो वह लोगों से कहेंगे कि धुलाई कर नितिन गडकरी ने कहा, ‘हमारे पास यह लालफीताशाही क्यों है, ये सब इंस्पेक्टर क्यों आते हैं।

वे रिश्वत लेते हैं. मैं उनके मुंह पर कहता हूं कि आप सरकारी नौकर हैं, मैं जनता के द्वारा चुना गया हूं। मैं लोगों के प्रति जवाबदेह हूं, यदि आप चोरी करते हैं, तो मैं कहूंगा कि आप एक चोर हैं।

नितिन गडकरी ने इस दौरान कहा, ‘आज मैंने आरटीओ कार्यालय में एक बैठक की, जिसमें निदेशक और परिवहन आयुक्त ने भाग लिया मैंने उनसे कहा कि आप आठ दिनों के भीतर इस समस्या को हल करें, अन्यथा मैं लोगों को कानून हाथ में लेकर धुलाई करने को कहूंगा’ उन्होंने आगे कहा कि उनके शिक्षकों ने यह सिखाया है कि उस सिस्टम को बाहर फेंक दो जो न्याय नहीं देती है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अधिवेशन में भाग लेने आए उद्यमियों से निडर होकर अपने व्यापार का विस्तार करने के लिए कहा उन्होंने कहा कि अधिकारी व्यापारियों को परेशान नहीं कर सकते।

केंद्रीय नितीन गडकरी कई बार अपने बेबाक बातों से Pm मोदी और सरकार तक के लिए मुश्किल पैदा कर चुके हैं जबकि कई बार विपक्षी नेता भी उनका तारीफ कर चुके हैं। कुल मिलाकर उनके बयान से स्पष्ट है कि वो कर्मचारियों के द्वारा हर काम मे देरी के कारण परेशान हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here