नए मोटर व्हीकल एक्ट के विरोध में कांग्रेस के युवाओ ने किया गडकरी के खिलाफ प्रदर्शन

0
76
loading...

देश मे नए मोटर व्हीकल एक्ट का काफी विरोध हो रहा है। जिस तरह से सरकार ने नए एक्ट में जुर्माना में वृद्धि की है उससे आमजनों को हो रही समस्या के कारण विपक्षी दल सहित कई संगठन इसका विरोध कर रही है। जबकि इसको लेकर जनता भी काफी परेशान है।

इस संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के खिलाफ भारतीय युवा कांग्रेस (IYC) ने केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। इस विरोध प्रदर्शन का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें आप देख सकते हैं किस तरह से आईवाईसी के सदस्य पुरानी स्कूटर लेकर गडकरी के आवास पर प्रदर्शन करने पहुंचे। इस दौरान सदस्य नए नियम के खिलाफ में नारेबाजी भी करते नजर आए।

आईवाईसी के प्रदर्शन को देखते हुए नितिन गडकरी के आवास पर भारी संख्या दिल्ली पुलिस के जवान भी तैनात थे। विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने केंद्रीय मंत्री के घर के बार बैरिकेट्स लगा दिए थे।

बता दें कि नए मोटर व्हीकल एक्ट को लागू होने के बाद लोगों को भारी-भरकम चालान भरना पड़ रहा है। यहां तक कि चालान के एक दो ऐसे मामले सामने आए है जिसमें जितने की गाड़ी नहीं उससे ज्यादा का तो पुलिस ने चालान काट दिया। हाल ही में दिल्ली के रहने वाले एक शख्स का गुरुग्राम में 23 हजार का चालान कटा था। जबकि स्कूटी की कीमत 15 हजार के आसपास थी।

वहीं दिल्ली में एक बड़े चालान की खबर सामने आई। राजस्थान के एक ट्रक मालिक ने 1,41,700 रुपये की चालान राशि का भुगतान किया। यह चालान ओवरलोडिंग के चलते 9 सितंबर को रोहिणी कोर्ट में जमा किया गया है। ट्रक का चालान पांच सितंबर को हुआ था। सोमवार को दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में राजस्थान के एक ट्रक मालिक ने चालान की 1,41,700 रुपये रकम का भुगतान किया था। इस पर्ची की फोटो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। ट्रक मालिक भगवान राम राजस्थान के बीकानेर का रहने वाला है, जिसका दिल्ली में 5 सितंबर को ओवरलोडिंग होने की वजह से 70 हजार रुपए का चालान काटा गया। वहीं ट्रक में ज्यादा माल लादने पर उसके मालिक पर भी 70 हजार का और चालान किया गया।

इस एक्ट के बाद हर ट्रैफिक पुलिस जहाँ इसकी जांच में तेजी ला दी है तो इसको लेकर जनता को भी काफी समस्या हो रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुए युवा कांग्रेस ने प्रदर्शन किया और इसे वापस लेने की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here