पंजाब में उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी की उम्मीदवारों की सूची

0
166
loading...

पंजाब में होने वाले चार विधानसभा उपचुनाव को लेकर तैयारी जोर-शोर से चल रही हैं। कांग्रेस अपने ढाई साल के कार्यकाल को सही साबित करने के लिए और जनता का इसमें समर्थन बताने के लिए इन सभी सीटों को जीतने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही है तो वहीं बीजेपी , आम आदमी पार्टी और शिरोमणि अकाली दल इन सीटों पर कांग्रेस को शिकस्त देकर यह बताने का प्रयास करने की कोशिश में है कि जनता सरकार के खिलाफ है। चुनाव आयोग ने इन सभी सीटों पर उपचुनाव का तारीख को का घोषणा कर दिया है

चुनाव आयोग द्वारा तारीख तय करने के बाद सभी राजनीतिक दल अब तैयारी में लग गए हैं। 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा के उपचुनाव के लिए उम्मीदवारों का नाम कांग्रेस ने घोषित कर दिया है। बता दें कि 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ कई राज्यों में विधानसभा उपचुनाव भी होने वाला है। ये सारी सीटें ऐसी हैं जो किसी कारणवश चुनाव के बाद खाली हो गई हैं।

पंजाब में चार सीटों पर उपचुनाव होने वाला है, जिसके लिए कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए हैं। फगवाड़ा सीट से बलविंदर सिंह धलीवाल, मुकेरियां से इंदु बाला, दांखा से संदीप सिंह संधू और जलालाबाद से रमिंदर आमला चुनाव लड़ेंगे।

यह नाम सोमवार को पार्टी अध्यक्ष द्वारा पास करने के बाद घोषित किया गया है। बता दें कि फगवाड़ा से कांग्रेस पार्टी की ओर से घोषित उम्मीदवार बलविंदर सिंह धालीवाल जालंधर में आईपीएस के तौर पर तैनात थे। धालीवाल ने सोमवार को अपना इस्तीफा पंजाब सरकार को सौंप दिया और अब वो विधानसभा में जाने की लड़ाई लड़ेंगे।

साल 2017 के विधानसभा चुनाव में फगवाड़ा सीट से बीजेपी के सोम प्रकाश ने जीत हासिल की थी। लेकिन साल 2019 के लोकसभा चुनाव में सोम प्रकाश होशियारपुर सीट से सांसद चुन लिए गए जिसके फगवाड़ा की सीट खाली हो गई थी। मौजूदा वक्त में सोम प्रकाश मोदी सरकार में राज्यमंत्री हैं। बता दें कि कांग्रेस उम्मीदवार बलविंदर सिंग धालीवाल मूल रूप से लुधियाना के रहने वाले हैं।

फाजिलका जिले के जलालाबाद विधानसभा से विधायक और शिरोमणि अकाली दल बाद के प्रधान सुखबीर बादल फिरोजपुर लोकसभा सीट से सांसद चुने गए जिसके बाद यह सीट खाली हो गई। इस कारण से इस सीट पर उपचुनाव कराया जा रहा है।

वहीं मुकेरियां विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक रजनीश कुमार बब्बी का लंबी बीमारी के कारण निधन हो गया। वह साल 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में वह मुकेरियां सीट से निर्दलीय विधायक चुने गए थे। इसके बाद साल 2017 में बब्बी ने कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ा और भाजपा के उम्मीदवार अरुणेश कुमार को मुकेरियां सीट से हराया था। रजनीश कुमार बब्बी के निधन के बाद से यह सीट खाली है। इस कारण यहां उपचुनाव कराया जा रहा है।

विधानसभा चुनाव की घोषणा के तुरंत बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दावा किया था कि कांग्रेस सभी सीट जीतेगी क्योंकि कांग्रेस सरकार प्रदेश की जनता के हितों के लिए काम कर रही है और इन कामों के नाम पर ही कांग्रेस चुनाव लड़ेगी और जीतेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here