हरियाणा में दो पूर्व सांसदों ने थामा कांग्रेस का हाथ , विधानसभा चुनाव में होगा पार्टी को फायदा

0
222
loading...

हरियाणा में जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे पार्टी खुद को मजबूत करने के लिए दूसरे दल के नेताओं को तोड़कर अपने पार्टी में शामिल कर रहे हैं। कांग्रेस हरियाणा में 5 साल के बाद सत्ता में वापसी करने के लिए अपनी संगठनात्मक बदलाव के बाद प्रत्याशियों और स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दिया है। कांग्रेस ने जनता को आकर्षित करने के लिए घोषणा पत्र में ऐसे मुद्दों को जगह दी है जिससे जनता आकर्षित हो और कांग्रेस को अधिक वोट मिल सके। इन सब के बाद अब जीत सुनिश्चित करने के लिए और क्षेत्रों में खुद को मजबूत करने के लिए पार्टी के नेता अब दूसरे दल के नेताओं को कांग्रेस ज्वाइन करवाने में लग गए हैं। ऐसे में पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा ने इनेलो को झटका देते हुए दो पूर्व सांसदों को अपने पार्टी में शामिल करवा लिया।

कालांवाली में कांग्रेस पार्टी की प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा की अगुवाई में इनेलो के दो पूर्व सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी और पूर्व सांसद डॉ. सुशील कुमार इंदौरा ने कांग्रेस का दामन थामा है। कुमारी सैलजा कांग्रेस प्रत्याशी शीशपाल केयर वाला के लिए ग्राम रोड़ी के रामलीला ग्राउंड में एक जनसभा को संबोधित करने के लिए आई थी। इस मौके पर दोनों सांसदों ने कांग्रेस पार्टी में आस्था जताई। वहीं बताया जा रहा है कि दोनों सासंदो के कांग्रेस पार्टी में आने से विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को बड़ा फायदा मिलने वाला है।

जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आते जा रहा है वैसे ऐसे हरियाणा में मुख्य मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के बीच ही होते जा रहा है। शुरुआत में क्षेत्रीय दलों ने इस चुनाव को त्रिकोणीय बनाने का पूरा कोशिश किया था लेकिन क्षेत्रीय दलों में फूट के बाद। दोनों राष्ट्रीय दलों में ही मुख्य मुकाबला देखने को मिल रहा है। ऐसे में सत्ता वापसी के लिए बेताब कांग्रेस अधिक से अधिक नेताओं को अपने में से जोड़ने के लिए पार्टी के पुराने नेताओं के साथ-साथ क्षेत्रीय दल और बीजेपी के नाराज नेताओं से भी संपर्क कर उन्हें पार्टी से जोड़ रही है ताकि विधानसभा चुनाव में अधिक से अधिक सीट हासिल करने में इन नेताओं से पार्टी को फायदा हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here