पुलिस हिरासत में हुई मौतों पर श्वेत पत्र जारी करे योगी सरकार : अजय कुमार लल्लू

0
61
loading...

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से पुलिस हिरासत में हुईं सभी मौतों की निष्पक्ष जांच कराने और ऐसी वारदात पर ‘श्वेतपत्र’ जारी करने की मांग की। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने यहां आरोप लगाया कि प्रदेश में निर्दोषों की न्यायिक हिरासत और पुलिस हिरासत में लगातार मौतें हो रही हैं।

कांग्रेस की मांग है कि प्रदेश सरकार से पुलिस हिरासत में हुईं सभी मौतों की निष्पक्ष जांच कराई जाए और ऐसी घटनाओं पर ‘श्वेतपत्र’ जारी किया जाए।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि योगी आदित्यनाथ जबसे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं तब से प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है। सबसे दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि अब जनता की रक्षक पुलिस ही जनता की भक्षक बन चुकी है।

श्री अजय कुमार लल्लू ने कहा कि निर्दोषों की न्यायिक हिरासत और पुलिस हिरासत में लगातार मौतें हो रही हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में एक अप्रैल 2017 से फरवरी 2018 तक पुलिस हिरासत में 144 मौतें और न्यायिक हिरासत में 1530 मौतें हो चुकी हैं। कानून व्यवस्था के लिहाज से यह गंभीर मसला है। सरकार को इस सबंध में श्वेत पत्र जारी करना साफ करना चाहिये कि पुलिस हिरासत में हुयी मौतों के बारे क्या कार्यवाही हुई है और कितने दोषियों को सजा मिली है तथा जांच का स्तर कहां तक पहुंचा है।

यदि प्रदेश सरकार ने कोई ठोस कार्यवाही नहीं की तो कांग्रेस प्रदेशव्यापी आन्दोलन करेगी।
उन्होने कहा कि योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद उत्तर प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है। सबसे दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि अब जनता की रक्षक पुलिस ही जनता की भक्षक बन चुकी है। उच्चतम न्यायालय ने पहले ही यूपी में जंगलराज कायम होने की बात कही थी, वहीं एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार देश में सबसे ज्यादा अपराध यहां हो रहे हैं। कल ही अमेठी में पुलिस हिरासत में व्यापारी सत्य प्रकाश शुक्ला उर्फ साजन शुक्ला की मौत हो गयी, परिवार वालों ने पुलिस पर सत्य प्रकाश शुक्ला को बुरी तरह मारने-पीटने और जहर देने तथा 13 लाख रूपये वसूलने के आरोप लगाये हैं।

इसके पहले 25 अगस्त को अमेठी में राम अवतार,नौ सितम्बर को मऊ में एक मजदूर ओंकेश कुमार यादव और हापुड़ के पिलखुआ में 14 अक्टूबर को प्रदीप तोमर की पुलिस हिरासत में हुई मौत हो गयी थी। इससे साफ होता है कि भाजपा सरकार अपने ठोक दो, सिद्धान्त पर चल रही है। प्रदेश में अराजकता के चलते आम जनता, व्यापारी, महिलाएं सभी असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

श्री लल्लू ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब सिर्फ भाषण मंत्री बन गये हैं। कानून और व्यवस्था पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं रह गया है। अपराधी और अराजकता तत्व खुले में घूम रहे हैं जबकि आम जनता सहमी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here