यूपी की बेटी को न्याय दिलाने के लिए कांग्रेस 2 अक्टूबर को करेगी लखनऊ में मार्च

0
133
loading...

यूपी की बेटी को न्याय दिलाने के लिए कांग्रेस द्वारा आयोजित यात्रा को बीजेपी की योगी सरकार द्वारा बीच में रोके जाने के बाद कांग्रेस ने फैसला लिया है कि अब या यात्रा 2 अक्टूबर से शुरू की जाएगी। कांग्रेस का मुख्य मांग चिन्मयानंद को सजा देना और चिन्मयानंद द्वारा शोषित छात्रा को न्याय दिलाना है।

पूर्व गृहराज्य मंत्री चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली शाहजहांपुर की विधि छात्रा को न्याय दिलाने की खातिर कांग्रेस अब दो अक्टूबर को लखनऊ में मार्च निकालेगी।

शाहजहांपुर में जिला प्रशासन द्वारा लखनऊ तक की पद यात्रा को अनुमति नहीं मिलने के चलते कांग्रेस को अपने कार्यक्रम में रद्दोबदल करना पडा। जिला प्रशासन ने त्योहारों का हवाला देते हुए निषेधाज्ञा लगा दी और कांग्रेस के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया हालांकि देर शाम सभी को रिहा कर दिया गया।

गिरफ्तारी से छूटने के बाद कांग्रेसी नेताओं ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया और कहा कि प्रशासन सरकार कितना भी दमन पूर्ण नीति अपना ले लेकिन वह पीड़िता के साथ हैं और न्याय दिलाने के लिए दो अक्टूबर को लखनऊ में मार्च निकालेंगे।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव तिवारी ने यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि योगी सरकार पूरी तरह से स्वामी चिन्मयानंद को बचा रही है और पीड़िता को आरोपी साबित कर रही है वहीं कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने भी उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा वही पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी अजय कुमार लल्लू ने भी भाजपा सरकार को जमकर कोसा। वही धीरज गुर्जर ने भी उत्तर प्रदेश सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि वह 2 अक्टूबर को लखनऊ में मार्च निकालेंगे वहां वह पीड़िता के लिए न्याय की मांग करेंगे।

श्री प्रसाद ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जिस तरह से कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के विरुद्ध दमनकारी नीतियां अपनाई जा रही हैं उन्हें किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कांग्रेस के कार्यकर्ता उत्तर प्रदेश के कोने-कोने से एक छात्रा को न्याय दिलाने के लिए शाहजहांपुर आ रहे थे उनके खिलाफ जिस तरह से उत्तर प्रदेश की सरकार ने उनकी आवाज को दबाने का का कार्य किया है। शाहजहांपुर क्रांतिकारियों की धरती है और इस धरती से आवाज को उत्तर प्रदेश सरकार के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी।

कांग्रेस लगातार अब सरकार से दो-दो हाथ करने के मूड में नजर आ रही है और इसी कारण यूपी सरकार कांग्रेस की आंदोलनों को कुचलने की दूरी कोशिश करती है चाहे पहले प्रियंका गांधी द्वारा सोनभद्र में आदिवासियों के लिए किए जाने वाले आंदोलन को कुचलने का कोशिश हो या फिर अब बेटी के न्याय के लिए उत्तर प्रदेश कांग्रेस द्वारा किया जा रहा यह पदयात्रा हो सभी को उत्तर प्रदेश सरकार जिस तरह से कुचल रही है वह कहीं ना कहीं बीजेपी सरकार के अंदर कांग्रेस से उत्पन्न हो रहे डर को साफ दिखा रहा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here