महाराष्ट्र में बन सकता है शिवसेना का मुख्यमंत्री , NCP को उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस को विस अध्यक्ष की मिल सकती है कुर्सी

0
112
loading...

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आए 15 दिन बीत जाने के बाद भी अब तक शिकार गठन नहीं हो सका है है नहीं हो सका है है क्योंकि किसी एक दल को स्पष्ट बहुमत नहीं आने के कारण अभी तक जोड़-तोड़ की राजनीति चल रही है लेकिन मिली जानकारी के अनुसार शिवसेना 12 नवंबर को सरकार बनाने को लेकर दावा पेश कर सकती है।

नए सरकार के गठन को लेकर चल रहे चर्चा के अनुसार शिवसेना सरकार में NCP साझेदार बन सकती है वहीं कांग्रेस बाहर से समर्थन कर सकती है।

मिली जानकारी के अनुसार शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे खुद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बन सकते हैं. एनसीपी और कांग्रेस के साथ शिवसेना ने बातचीत कर कहा कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजित पवार को उप मुख्यमंत्री का पद मिल सकता है और जयंत पाटिल को गृहमंत्री का पद दिया जा सकता है। इस सरकार को समर्थन करने के एवज में कांग्रेस को विधानसभा अध्यक्ष का पद दिया जा सकता है।

चल रही चर्चाओं का अनुसार शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और एनसीपी प्रमुख शरद पवार के बीच हुई बातचीत में मंत्रिमंडल का प्रारूप फाइनल हो चुका है।

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा है कि महाराष्ट्र में अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का बनेगा, उन्होंने कह दिया मतलब समझिए वही होगा, चाहे वह किसी भी कीमत पर हो।

बीजेपी ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को सूचित कर दिया है कि वह अकेले सरकार बनाने में असमर्थ हैं. राज्यपाल ने सबसे बड़े दल होने के चलते बीजेपी को सरकार बनाने का पहले न्योता भेजा था. बीजेपी के इनकार के बाद राज्यपाल कोश्यारी ने शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे से पूछा है कि क्या वे महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए सक्षम हैं. अगर शिवसेना सरकार बनाना चाहती है तो वह राजभवन को सूचित करें.

वहीं महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक चव्हाण ने कहा है कि वे सभी राजनीतिक घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए हैं।

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया था. बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन बहुमत नहीं होने के चलते उन्होंने राज्यपाल के न्योते को ठुकरा दिया है।

24 अक्टूबर को आए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे में बीजेपी को 105 सीट मिले थे , जबकि शिवसेना को 56 , NCP को 54 और कांग्रेस को 44 सीट मिला था। जबकि 29 सीट अन्य क्षेत्रीय दलों के साथ निर्दलीयों ने जीता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here