अब सोमवार को होगी सोनिया गांधी और शरद पवार के बीच मुलाकात , सरकार गठन को लेकर होगी चर्चा

0
77
loading...

महाराष्ट्र में सरकार गठन की प्रक्रिया भारतीय राजनीति के दो दिग्गज नेताओ कि मुलाकात और चर्चाओं के बाद आगे बढ़ेगी। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी के प्रमुख शरद पवार की मुलाकात के बाद ही महाराष्ट्र में सरकार गठन की प्रक्रिया आगे बढ़ने की संभावना है। अभी महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन है। एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर शिवसेना सरकार बनाने के लिए उत्सुक दिख रही है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार की आज रविवार को होने वाली बैठक अब सोमवार को होगी।

एनसीपी ने रविवार को पुणे में पार्टी कोर कमेटी की बैठक बुलाई है जिसके बाद ही शरद पवार दिल्ली जाएंगे। इस बैठक में राज्य में सियासी समीकरण पर चर्चा किए जाने की संभावना है। दोनो नेताओ के बैठक के टलने के बाद महाराष्ट्र में सरकार गठन का इंतजार लंबा हो सकता है।

शिवसेना और कांग्रेस एनसीपी के सहयोग से बनने जा रही इस सरकार के बारे में अभी सिर्फ अटकलें लगाई जा रही हैं। तीनों दलों की ओर से कहा जा रहा है कि वह एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाएंगे, इसके बाद सरकार बनाएंगे।

महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर पार्टी कुछ भी अकेले तय नहीं करेगी

वहीं एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि, पवार साहब ने रविवार को पुणे में शाम 4 बजे एनसीपी नेताओं की कोर कमिटी की बैठक बुलाई है। महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच सरकार गठन को लेकर विचार-विमर्श का दौर चल रहा है। बताया जा रहा है कि तीनों पार्टियों के बीच न्यूनतम साझा कार्यक्रम (सीएमपी) पर सहमति बन गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने हालांकि साफ कर दिया था कि महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर पार्टी कुछ भी अकेले तय नहीं करेगी। इसलिए खड़गे का कहना था कि आगे की रणनीति पर फैसला लेने के लिए शरद पवार और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच मुलाकात होगी।

तीनों पार्टियों के बीच में बंटने वाले मंत्रालय के बारे में ड्राफ्ट किया जा चुका है

दिल्‍ली में शरद पवार और सोनिया गांधी के बीच होने वाली मीटिंग में नई सरकार के गठन के बारे में अंतिम मुहर लग सकती है।

जैसा कि आपको पूर्व में भी जानकारी है कि महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना के गठबंधन टूटने के कारण किसी भी सरकार का गठन नहीं हो पाया जिसके बाद शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी से बात कर एक नए गठबंधन के साथ सरकार बनाने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाई है जिसके लिए तीनों दलों की आम सहमति और विभिन्न मुद्दों पर चर्चा जारी है और उम्मीद है कि शरद पवार और सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद एनसीपी और कांग्रेस की सरकार बनाने को लेकर अंतिम मुहर लग जायेगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here