फिर जरूरतमंद की मदद के लिए सामने आए राहुल गांधी , बच्ची के मौत के बाद मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

0
68
loading...

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी जरूरतमंद की मदद के लिए हमेशा से आगे आने के लिए जाने जाते हैं। उनके इसी दरिया दिल के लिए लोग उन्हें सभी भारतीय राजनेताओं से अलग देखते हैं। राहुल गांधी का यह छवि फिर एक बार देखा गया है दरअसल वायनाड में जब एक स्कूली छात्रा का सर्पदंश के कारण मौत हो गया तो राहुल गांधी ने तुरंत इसका संज्ञान लिया और केरल के मुख्यमंत्री से उस बच्ची के परिजन को मुआवजा देने की अपील की।

केरल के वायनाड में 10 साल की छात्रा को स्कूल में क्लासरूम के अंदर सांप ने काट लिया, जिससे उसकी मौत हो गई। इस मामले में स्कूल प्रशासन पर भी लापरवाही के आरोप लगे हैं। स्कूल में पढ़ने वाली छात्राओं ने आरोप लगाया कि जिस समय छात्रा को सांप ने काटा इसकी जानकारी क्लास में मौजूद टीचर को दी गई लेकिन उन्होंने इस पर ध्यान नहीं दिया। बाद में स्टूडेंट की तबीयत बिगड़ने पर उसे अस्पताल ले जाया गया, जिसमें काफी देर हो गई और बच्ची की मौत हो गई।

जब इस मामले कि जानकारी वायनाड के सांसद राहुल गांधी को मिली तो उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने केरल के सीएम से अपील की है कि स्कूल में सांप के काटने से मृत छात्रा के परिजनों को मुआवजा दें।

वायनाड के एक सरकारी स्कूल पढ़ने वाली पांचवीं छात्रा एस. शेहला की क्लास में सांप के काटने की वजह से मौत हो गई। इसी मामले में अब कांग्रेस नेता और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को पत्र को लिखा। इस पत्र में उन्होंने मुख्यमंत्री से मृत बच्ची के परिजनों को मुआवजा देने की अपील की है। ये बच्ची वायनाड जिले के सुलतान बेथरी में एक सरकारी स्कूल में पढ़ती थीं।

पूरा मामला उस समय सामने आया जब छात्राओं की क्लास चल रही थी। टीचर बच्चों को पढ़ा रही थीं। जैसे ही छात्रा को सांप ने काटा तो दूसरे छात्रों ने इसकी जानकारी क्लास में पढ़ा रही शिक्षिका को दी लेकिन उन्होंने बच्चों की सुनने के बजाय पढ़ाना जारी रखा। सहपाठियों का आरोप है कि शिक्षिका से जब हमने बताया कि शेहला को सांप ने काटा है तो उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं हो सकता। उसे किसी कील, पत्थर या फिर इसी तरह की कोई नुकीली चीज से चोट लगी है। हालांकि, बाद में जब बच्ची की तबीयत बिगड़ने लगी तो छात्रा को पास के एक अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां उसकी स्थिति ठीक नहीं हुई और कोझिकोड रेफर किया गया।

मृत छात्रा के साथ पढ़ने वाले दूसरे छात्रों ने बताया कि सांप काटने की घटना दोपहर करीब 3.10 बजे हुई, बताने के बावजूद भी स्कूल प्रशासन ने 3.50 बजे तक छात्रा को कोई चिकित्सीय सुविधा मुहैया नहीं कराई। स्कूल की हेडमास्टर ने बताया कि छात्रा को करीब 4.10 बजे के करीब स्थानीय अस्पताल में ले जाया गया। लेकिन उसकी तबीयत बिगड़ने की वजह से कोझिकोड मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर किया गया। वहां ले जाने में ढाई घंटे का समय लगता, इसी दौरान छात्रा की मौत हो गई।

पूरा मामला सामने आने के बाद राहुल गांधी ने केरल के सीएम को पत्र लिखकर मृत बच्ची के परिजनों मुआवजा देने की अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here