उद्धव ठाकरे ने सदन में जीता बहुमत परीक्षण , 169 विधायको का मिला समर्थन

0
56
loading...

महाराष्ट्र में राजनीतिक उठापटक जो इस बार देखने को मिली पूर्व में शायद ही कभी ऐसी उठापटक कही देखने को मिली हो मगर अंततः महा विकास आघाडी के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपना बहुमत सदन में साबित कर दिया। शिवसेना , एनसीपी और कांग्रेस के अलावा भी कई अन्य विधायकों का समर्थन उन्हें हासिल हुआ।

सरकार के पक्ष में 169 विधायकों ने वोट दिया गया जबकि इस दौरान विपक्ष में कोई भी वोट नहीं पड़ा क्योंकि बीजेपी ने सदन से वॉकआउट कर दिया था. इस दौरान चार विधायक तटस्थ रहे जिनमें महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना और एआईएमआईएम भी शामिल है।

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने शिवसेना नेता और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में विश्वास मत का अनुमोदन किया था।

शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस के महा विकास अघाड़ी गठबंधन की ओर से उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को मुख्यमंत्री पद का शपथ लिया था।

दो बजे जब विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुआ तो विपक्ष ने विरोध किया।

विपक्षी पार्टी बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने सरकार पर नियमों को ताक पर रखकर सदन चलाने का आरोप लगाया।

सबसे पहले सदस्यों की गिनती हुई और उनसे हां या ना में जवाब मांगा गया. इस दौरान बीजेपी के सदस्य हंगामा करते रहे, उनका कहना था कि ये सब नियमों के ख़िलाफ़ हो रहा है। इसके बाद बीजेपी के सभी 105 सदस्य सदन से वॉकआउट कर गए।

इस तरह बहुमत परीक्षण के दौरान जहां सरकार के सभी समर्थक विधायको ने अपना मत दिया जिससे सरकार के पक्ष में 169 जबकि विपक्ष में 0 मत परे जिससे उद्धव ठाकरे ने बहुमत हासिल कर लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here