बैसाखी पर टिकी खट्टर सरकार एक बार फिर मुसीबत मे, अब निर्दलीय विधायक ने की सरकार से बगावत

0
182

हरियाणा सरकार में बीजेपी के साथ भागीदार जेजेपी विधायक रामकुमार गौतम की बगावत के बाद सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू ने अब सरकार के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। बलराज कुंडू ने चेतावनी देते हुए कहा कि बीजेपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री और रोहतक से पिछला विधानसभा चुनाव हारे मनीष ग्रोवर के भ्रष्‍टाचार की जांच नहीं हुई तो वो सरकार से अपना समर्थन वापस ले लेंगे। बलराज कुंडू ने कहा है कि मुख्‍यमंत्री भ्रष्‍टाचारी पूर्व मंत्री का साथ दे रहे हैं, जो गलत है। बलराज कुंडू के हमले के बाद फिर सरकार में बेचैनी है।

हरियाणा सरकार में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है, जबकि सरकार बने महज दो महीने ही हुए हैं। हिसार के नारनौंद से जेजेपी विधायक रामकुमार गौतम की बगावत शांत भी नहीं हो पाई है कि सरकार को समर्थन दे रहे रोहतक के महम से विधायक बलराज कुंडू ने हमला बोल दिया है। बता दें कि महम विधानसभा क्षेत्र से चुने गए बलराज कुंडू बीजेपी से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़े थे।

‘नवजीवन’ से बातचीत में बलराज कुंडू ने पिछली बीजेपी सरकार पर भी कई गंभीर आरोप लगाए हैं। साथ ही मुख्‍यमंत्री पर भी सवाल खड़े किए हैं। मुख्‍यमंत्री के चहेते रोहतक से पूर्व विधायक और पिछली सरकार में सहकारिता मंत्री रहे मनीष ग्रोवर को कुंडू ने भ्रष्‍टाचार में आकंठ डूबा बताया है। साथ ही कहा है कि मुख्‍यमंत्री इसके बावजूद मनीष ग्रोवर का साथ दे रहे हैं, जो गलत है।

कुंडू ने आरोप लगाते हुए कहा कि शुगर मिलों से शीरा खरीदने के पैतृक धंधे में पूर्व मंत्री ग्रोवर ने परिवार के लोगों को फायदा पहुंचाया है। प्रदेश भर की शुगर मिलों से शीरा 7 साल पुराने रेट पर कौड़ियों के भाव खरीदा जा रहा है। शनिवार को नवजीवन से बातचीत में कुडू ने कहा कि कैथल शुगर मिल मामले में एफआईआर दर्ज की गई थी, लेकिन कुछ नहीं हुआ। रोहतक की कॉलोनियों में सड़कों पर मास्टिक अस्फाल्ट लेयर बिछाई जा रही है, जिसपर 70 से 80 करोड़ के घोटाले का आरोप उन्‍होंने लगाया है। कुंडू ने सरकार को अल्‍टीमेटम देते हुए कहा कि यदि इस भ्रष्‍टाचार की जांच नहीं करवाई गई तो वह सरकार से समर्थन वापस ले लेंगे। अगले हफ्ते वह इसकी जांच की मांग को लेकर गृह मंत्री अनिल विज से भी मिलेंगे।

साल 2016 में हरियाणा में हुए जाट आरक्षण आंदोलन को लेकर भी खट्टर सरकार पर कुंडू ने गंभीर आरोप लगाए हैं। नवजीवन से बातचीत में कुंडू ने कहा कि जाट आंदोलन में रोहतक को जलाने का काम पूर्व बीजेपी मंत्री मनीष ग्रोवर ने ही किया था। इसके लिए तो उन्‍हें फांसी पर चढ़ा देना चाहिए। प्रकाश कमेटी की रिपोर्ट क्‍या कहती है, कोई भी देख ले। जाट आंदोलन में वाल्‍मीकि समाज को मोहरा बनाया गया और यह सब पैसे देकर किया गया। कुंडू ने कहा कि भला वाल्‍मीकि समाज से जाटों की क्‍या दुश्‍मनी थी, जो उन पर कोई हमला करता। यह सब करवाया गया और यह करवाया मनीष ग्रोवर ने। पिछली बीजेपी सरकार ने इसे दबाया। इस सवाल पर कि पिछली बीजेपी सरकार तो पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर आरोप लगाती रही, कुंडू ने कहा कि वह सरासर गलत आरोप थे। भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर आरोप राजनीति के लिए लगाए जाते रहे। साथ ही मांग की कि जाट आरक्षण आंदोलन की दोबारा से सरकार जांच करवाए।

कुंडू ने आगे कहा, “मैं किसी का मोहरा नहीं हूं। मैं जो भी बात कह रहा हूं, वह स्‍वतंत्र तौर पर कह रहा हूं।” हरियाणा की मनोहर-1 सरकार के दौरान हुए जाट आंदोलन के समय बलराज कुंडू जिला परिषद चेयरमैन थे और बीजेपी में ही थे। इस लिहाज से भी मुख्‍यमंत्री को सीधे निशाने पर लेते हुए कुंडू के गंभीर आरोप मायने रखते हैं। गौरतलब है कि अभी जेजेपी विधायक रामकुमार गौतम की बगावत की आग शांत भी नहीं हो पाई है और अब कुंडू के बगावती सुर से सरकार में हलचल है। यह संकेत है कि बैसाखियों पर टिकी बीजेपी सरकार की राहें मुश्किलों भरा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here