इंदौर नगर निगम ने मुफ्त राशन बंद किया, आयुक्त ने कहा- अब इसकी जरूरत नहीं

0
120

मध्य प्रदेश के इंदौर नगर निगम (Indore Municipal Corporation)  ने मुफ्त में दिए जाने वाले राशन (free ration) के वितरण पर रोक लगा दी है. राशन वितरण की यह व्यवस्था मार्च महीने में लॉक डाउन (lockdown) लागू होने के बाद से शुरू की गई थी. इंदौर के नगर आयुक्त का कहना है कि हमने जरूरतमंदों को 21-22 लाख पैकेट अनाज के वितरित किए हैं. अब औद्योगिक गतिविधियां फिर से शुरू हो रही हैं. पीडीएस की दुकानें अनलॉक 1 में खोलने की शुरुआत हो गई है, इसलिए अब इसकी जरूरत नहीं है.

कोरोना से मौत की होगी ऑडिटिंग

इंदौर में कोरोना पॉजिटिव के मिलने का सिलसिला रूक ही नहीं रहा है. ऐसे में इंदौर प्रशासन ने इसे गंभीरता से लिया है और वह जिले में कोरोना से हुई हर मौत का ऑडिट होगा. इसके लिए गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. ज्योति बिंदल ने इंदौर स्थित एमवाय अस्पतालके तीन डॉक्टरों की कमेटी बनाई है, जिसमें डॉ.संजय अवासिया,डॉ. धर्मेंद्र झंवर और डॉ. निर्भय मेहता शामिल हैं.

10 फीसदी मौत की ऑडिट हो चुकी है
हालांकि इससे पहले कमिश्नर आकाश त्रिपाठी ने संभाग स्तर पर कमेटी बनाई थी जिसमें दस प्रतिशत मौतों का ऑडिट किया था. उसमें टीम ने पाया था कि 80 फीसदी मरीज़ों की मौत दूसरी गंभीर बीमारियों के कारण हुईं हैं. इंदौर में कोरोना से प्रदेश में सबसे ज्यादा मौतें हुईं हैं. अब तक ये आंकड़ा 135 पर पहुंच गया है. इसलिए मौत की असल वजह जानने के लिए ये डेथ ऑडिट (death audit) ) कराया जा रहा है.

कोरोना पॉजिटिव के मौत का आंकड़ा भी बढ़ा

इंदौर में कोरोना के नये पॉजिटिव मरीजों के मिलने के साथ ही मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 922 सैंपल्स की जांच की गई जिसमें 865 सैंपल निगेटिव और 53 सैपल पॉजिटिव पाए गए.इन्हें मिलाकर कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3539 हो गई है.वहीं मेडिकल बुलेटिन में तीन मरीजों की मौत की पुष्टि के बाद मृतकों की संख्या 135 पर पहुंच गई है. 1414 मरीजों का इलाज शहर के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है,जबकि रविवार को 100 मरीजों को डिस्चार्ज करने के बाद अब तक 1990 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं. वहीं शहर में बने क्वारेंटीन सेंटर्स से 3338 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here