शिवसेना ने बीजेपी को लिया आडे हाथ कहा ” कांग्रेस का नही बीजेपी चीन का विरोध करे”

0
908

शिवसेना ने राजीव गांधी फाउंडेशन (आरजीएफ) को चीनी दूतावास से धन मिलने संबंधी आरोपों के लिए बीजेपी पर शनिवार को निशाना साधा और यह पूछा कि क्या यह मुद्दा किसी भी प्रकार से पड़ोसी मुल्क के लद्दाख पर अतिक्रमण और 20 भारतीय सैन्य कर्मियों की शहादत से जुड़ा हुआ है. बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने गुरुवार को कांग्रेस और गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए कहा था कि राजीव गांधी फाउंडेशन ने चीनी दूतावास से दान लिया था. कांग्रेस ने इस पर पलटवार करते हुए कहा था कि बीजेपी ने राजीव गांधी फाउंडेशन का जो मुद्दा उठाया है वह वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) संकट से ध्यान भटकाने के लिए ‘‘गढ़े हुए आरोप” और ‘‘भटकाने का तरीका” है.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा कि इस बात से आपका क्या मतलब है कि कांग्रेस को चीन से पैसा मिलता है? चीन के आक्रमण के संबंध में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी नेता राहुल गांधी ने जो मुद्दे उठाये हैं, उनका जवाब देने के बजाये बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस पर चीन से धन लेने के आरोप लगाये.

शिवसेना ने पूछा कि क्या दान लेने के बीजेपी के खुलासे से चीन की सीमा पर गतिविधियां रुक जायेंगी? बीजेपी को बताना चाहिए कि राशि मिलने का संबंध किस प्रकार से चीन के आक्रमण और 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने से है. उद्धव ठाकरे की पार्टी ने कहा कि हमारे देश में सिर्फ कांग्रेस ही नहीं कई नेताओं और दलों को विदेशों से लाभ मिलता है. बीजेपी का इस बारे में बोलना ‘कीचड़ में पत्थर’ फेंकने जैसा है.

शिवसेना ने कहा कि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग पिछले छह वर्षों में दो बार भारत आये हैं. गुजरात में उनकी मेजबानी की गई. लेकिन सच्चाई यह है कि चीन ने धोखा दिया है. एक तरफ वार्ता करना और दूसरी तरफ सीमा पर आक्रामकता दिखाना चीन की पुरानी नीति है.

महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार का नेतृत्व कर रही शिवसेना ने कहा कि वर्तमान परिदृश्य में पूरा देश दृढ़ता से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ खड़ा है. यह बीजेपी अथवा कांग्रेस भर का संकट नहीं है बल्कि पूरे देश का संकट है, जिसकी प्रतिष्ठा दांव पर है. बीजेपी बाद में किसी भी वक्त कांग्रेस से लड़ सकती है, लेकिन यह वक्त चीन से लड़ाई लड़ने का है. उसे उस पर बात करनी चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here