मप्र बीजेपी ने उपचुनाव से पहले फूट, कई नेता कांग्रेस के संपर्क में

0
2204

जब ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस पार्टी मे थे तब आये दिन गुटबाजी तथा खेमेबाजी की खबरे आती थी लेकिन जब से बीजेपी मे सिंधिया गये है तब से लगातार भारतीय जनता पार्टी के संगठन मे उथल पुथल मची हुई है नेताओ को अपनी जमीन खिसकने का डर है वही कांग्रेस फ्रंटफुट में उपचुनाव की तैयारियों मे जुटी हुई हैं।

आपको बताए कि मध्य प्रदेश में विधानसभा की 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी की अंदरूनी कलह सतह पर आती दिख रही है. बदनावर से पार्टी के विधायक रहे भंवर सिंह शेखावत इन दिनों नाराज हैं. उनकी नाराजगी की वजह दरअसल राजेश अग्रवाल हैं, जिन्हें दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय ने भाजपा में शामिल कराया है. राजेश अग्रवाल की वजह से ही 2018 के विधानसभा चुनाव में शेखावत को हार का सामना करना पड़ा था. जाहिर है इससे तिलमिलाए शेखावत ने पार्टी हाईकमान के सामने नाराजगी जाहिर कर दी है. वहीं, इस पूरे मामले पर कांग्रेस पार्टी ने चुटकी लेते हुए कहा है कि बीजेपी के प्रदेश संगठन का अंतर्कलह सामने आ गया है.

वहीं, खबर है कि कांग्रेस की ओर से शेखावत को टिकट ऑफर किया जा रहा है

भंवर सिंह शेखावत खुलेआम बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पर आरोप लगा रहे हैं कि उन्हें हराने के लिए ही राजेश अग्रवाल को बदनावर से खड़ा किया गया था. विजयवर्गीय ने इसमें आर्थिक मदद भी की थी. उनका आरोप है कि विजयवर्गीय ने कहा था कि शेखावत को हराओ और अब उसे फिर पार्टी में शामिल करा दिया है. शेखावत ने कहा कि बदनावर जाकर कैलाश विजयवर्गीय कह रहे हैं कि राजेश अग्रवाल को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जाएगा. जिन लोगों ने पार्टी से बगावत करके चुनाव लड़ा और पार्टी को हराया है, उन्हीं को विजयवर्गीय बढ़ावा दे रहे हैं. इसका परिणाम पार्टी को भुगतना पड़ेगा.

शेखावत की नाराजगी इतने पर ही नहीं थमी है. इंदौर की पांच नंबर विधानसभा सीट से दो बार और बदनावर से दो बार विधायक रहे चुके भंवर सिंह शेखावत का कहना है कि मालवा-निमाड़ की पांच सीटों का प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय को पार्टी ने नहीं बनाया है, वो अपने आप प्रभारी बन गए हैं. शेखावत का कहना है कि विजयवर्गीय इन सीटों पर ज्योतिरादित्य सिंधिया के कैंडीडेट्स को हराकर एमपीसीए चुनाव का बदला लेना चाह रहे हैं. शेखावत ने कहा कि संगठन को मैंने बता दिया है कि कैलाश विजयवर्गीय पार्टी को एक बड़े नुकसान की ओर ले जा रहे हैंबीजेपी में कांग्रेस मुखर, शेखावत को दिया ऑफर

ऐन उपचुनाव से पहले बीजेपी में अंदरूनी कलह के हालात बनते देख कांग्रेस पार्टी मुखर हो गई है. कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला का कहना है कि पूरे प्रदेश में बीजेपी नेताओं के बीच का अंतर्कलह सामने आ रहा है. बदनावर हो या हाटपिपल्या सभी जगह पुराने लोग नाराज हैं, क्योंकि पार्टी में सिंधिया के लोगों को ज्यादा तवज्जो दी जा रही है. इसका परिणाम आने वाले उपचुनाव में दिखाई देगा. इस बीच बताया गया है कि भंवर सिंह शेखावत कांग्रेस पार्टी के एक पूर्व मंत्री के संपर्क में हैं. उन्हें कांग्रेस की ओर से टिकट भी ऑफर किया गया हैं।

बीजेपी ने भी मौके की नजाकत को देखते हुए तैयारी शुरू कर दी है. पार्टी के वरिष्ठ नेता कृष्ण मुरारी मोघे लगातार शेखावत से संपर्क साधे हुए हैं. उन्होंने दावा किया है कि शेखावत की नाराजगी दूर कर ली जाएगी. पार्टी के अन्य नेता भी कलह से इनकार कर रहे हैं. बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा का कहना है कि बीजेपी में जिस कार्यकर्ता के जिम्मे जो कार्य है, वो उस कार्य को कर रहा है. संगठन ने कैलाश विजयवर्गीय को उपचुनाव में 5 सीटों की जिम्मेदारी दी है. वहीं भंवर सिंह शेखावत की कोई नाराजगी नहीं है. पार्टी ने एक रणनीति के तहत राजेश अग्रवाल को बीजेपी में शामिल किया है, जिसके अपेक्षित परिणाम होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here