गहलोत के बाद अब कमलनाथ ने PM मोदी को पत्र लिखकर कहा “राज्य सरकारों को अस्थिर करना संघीय ढांचे पर खतरा है”

0
1360

जिस प्रकार से बीजेपी चुनी हुई सरकारों को गिराने का काम कर रही हैं उससे पूरा देश भाजपा की निम्न स्तर की राजनीति को देख रहे है पहले मप्र में कांग्रेस की चुनी सरकार को गिराने के बाद अब राजस्थान में जिस प्रकार से बीजेपी षडयंत्र रच रही है उससे अब कांग्रेस आक्रामक लडाई लडने को तैयार हैं पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तो अब कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है।

कांग्रेस नेता कमलनाथ ने अपनी चिट्ठी में नरेंद्र मोदी का ध्यान राज्य सरकारों को गिराए जाने की तरफ दिलाया है। उन्होंने लिखा है कि जिस तरह से राज्य सरकारों को कमजोर किया जा रहा है और गिराया जा रहा है। उससे देश का संघीय ढांचा खतरे में है। कमलनाथ ने लिखा है कि ये ना सिर्फ सरकारें गिरा देने की बात है बल्कि इससे बहुत ज्यादा है। देश की लोकतंत्र की साख गिर रही है और आप इसे बचाने को आगे आइए।

चिट्ठी में कमलनाथ लिखते हैं- देश आज कोरोना महामारी से लड़ रहा है लेकिन मैं आपका ध्यान अप्रजातांत्रिक बीमारी की ओर दिलाना चाहता हूं।

दशकों के प्रयासों के बाद भारत एक मजबूत लोकतंत्र है। संघीय ढांचा हमारे प्रजातंत्र की खास पहचान है। इस पर हमला हो रहा है। जिन प्रदेशों में केंद्र सरकार के प्रतिपक्ष की सरकारें हैं, उन्हें अनैतिक तरीके से गिराया जा रहा है।

कमलनाथ ने आगे लिखा है, मध्य प्रदेश में कांग्रेस की निर्वाचित सरकर को गिराना प्रजातंत्र के इताहिस की शर्मनाक घटना है। जब कोरोना से लड़ना था, तब मध्य प्रदेश में सरकार गिराई जा रही थी और इसके चलते लॉकडाउन लागू करने में भी देर की गई। अभी भी विधायकों को लोभ लालच देकर तोड़ा जा रहा है। बात प्रदेशों की नहीं है, ये प्रजातांत्रिक व्यवस्था पर सवाल है। आपसे उम्मीद है कि आप लोकतंत्र की साख बचाने आगे आएंगे और लालची दलबदलुओं को अपनी पार्टी में जगह नहीं देंगे।

कमलनाथ से पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखा है। गहलोत ने इसमें कहा है कि उनकी चुनी हुई सरकार को गिराने की कोशिशें हो रही हैं। इस पर पीएम को ध्यान देना चाहिए क्योंकि ये देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था और मर्यादाओं के उलट है। गहलोत ने अपनी चिट्ठी में पीएम को लिखा है कि मुझे नहीं पता आपको राजस्थान में जो हो रहा है, उसकी कितनी जानकारी है या फिर आपको गुमराह किया जा रहा है लेकिन इतना है कि ऐसे काम में जो शामिल होगा, उसे इतिहास माफ नहीं करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here