कमलनाथ को चीनी एजेंट कहने पर बीजेपी नेताओ को कानूनी नोटिस

0
799

बीजेपी के नेता समय समय पर अपनी धूर्तता का इस्तेमाल करते है वो कब क्या बोल जाते है उन्हे खुद को भी नही पता हाल ही मे बीजेपी नेताओ ने कमलनाथ जिनका इस देश की प्रगति मे बहुमूल्य योगदान है उनको चीनी एजेंट कहा उसके बाद भारतीय जनता पार्टी की देश भर में बुद्धिजीवी वर्ग आलोचना कर रहा हैं।

आपको बताए कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने चीनी एजेंट कहे जाने पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा को नोटिस भेजा है. साथ ही दोनों नेताओं को अपने बयान के लिए माफी न मांगने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी है.

विष्णुदत्त शर्मा और प्रभात झा ने अपने बयान में कमलनाथ को चीनी एजेंट बताया था. इस बयान पर अधिवक्ता वरुण तन्खा की लॉ फर्म ‘वीएसए लीगल’ के माध्यम से कमल नाथ ने दोनों नेताओं को नोटिस दिया है. जिसमें उन्होंने कहा कि यह बहुत खेद की बात है कि बिना पूरी जानकारी के BJP उपाध्यक्ष प्रभात झा ने उन पर बेबुनियाद आरोप लगाए कि उन्होंने केंद्र में वाणिज्य और उद्योग मंत्री रहते हुए चीन के हित में कार्य किया.

पूर्व राज्यसभा सांसद प्रभात झा ने कमल नाथ को चीनी एजेंट बताते हुए कहा था कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और भारत की कांग्रेस पार्टी के बीच एक समझौता हुआ था. जिसके अनुसार भारत में जो सामान आसानी से उपलब्ध है, उसका आयात बढ़ाया जाए. ऐसी 250 वस्तुएं मार्क की गईं थी जिनका आयात करना तय हुआ था. इसके अलावा आयात कर भी 100-200 प्रतिशत घटाना भी सौदे का हिस्सा था.

प्रभात झा ने आरोप लगाते हुए कहा था कि “ऐसा करने से चीन को जो फायदा हुआ, उसके पैसे से कांग्रेस की मदद की गई और पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन में भी भेजा गया. यह एक नेशनल क्राइम है और इसके जिम्मेदार उस समय के केंद्रीय वाणिज्य मंत्री हैं.” कमल नाथ तत्कालीन मनमोहन सिंह सरकार में वर्ष 2004 से 2009 तक केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री थे.

कांग्रेस की ओर से बताया गया है कि कमल नाथ ने नोटिस भेजकर प्रभात झा और विष्णुदत्त शर्मा से तुरंत अपने बयान पर माफी मांगने के लिए कहा है. दोनों नेताओं ने ऐसा नहीं किया तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here