केंद्र सरकार ने PUBG सहित 119 एप्स पर लगाया प्रतिबंध

0
416

सीमा पर भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव के बीच मे फिर एक बार केंद्र की मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

केंद्र सरकार ने आज पबजी समेत 118 मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है।

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने धारा 69ए के तहत इन मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाने का फैसला किया है। मंत्रालय ने कई शिकायतें मिलने के बाद बैन लगाने का यह फैसला लिया है। जारी बयान में कहा गया है कि ये ऐप राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा थे।

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि ये मोबाइल ऐप भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरा थे।

भारत सरकार ने इससे पहले टिकटॉक सहित चीन के कई ऐप पर प्रतिबंध लगाए थे. जून के अंतिम में भारत ने टिकटॉक, हेलो समेत चीन के 59 मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाए थे. इसके बाद में जुलाई के आखिर में 47 और चीनी ऐप पर पाबंदी लगाई गई थी।

प्रतिबंध प्रतिबंधित एप्स की इस लिस्ट में कई लोकप्रिय एप्लीकेशन शामिल हैं। इनमें लोकप्रिय गेम पबजी मोबाइल, पबजी मोबाइल लाइट, बायडू, सुपर क्लीन, शायोमी का शेयरसेव, वीचैट वर्क, साइबर हंटर और इसका लाइट वर्जन, गेम ऑफ सुल्तान्स, गो एसएमएस प्रो, मार्वेल सुपर वार, लूडो वर्ल्ड-लूडो सुपरस्टार, राइज ऑफ किंगडम्स, गैलरी वॉल्ट, स्मार्ट एपलॉक (एप प्रोटेक्ट), डुअल स्पेस, क्लीनर-फोन बूस्टर, लैमोर, सिना न्यूज और टेंसेंट वाचलिस्ट आदि शामिल हैं।

दरसल भारत और चीन के सीमा पर काफी विवाद बढ़ गया है। 15 जून को गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी। इस झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे. चीन ने अपने सैनिकों के हताहत होने का कोई आंकड़ा जारी नहीं किया था।

गल्वान के बाद दोनों देशों में तनाव बढ़ने के बाद इसे बातचीच के जरिए मामले सुलझाने की बात तय हुई। भारत ने चीन के सामने कई प्रस्ताव रखे लेकिन कई दौर की बातचीत के बाद भी चीन के अड़ियल रवैये के वजह से भारत की यह कोशिश नाकाम साबित हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here