मैं कांग्रेस में अंदरूनी लोकतंत्र को बढ़ावा देने की बात की तो मेरी ही पार्टी के लोग मेरे खिलाफ हो गए और मेरी आलोचना की गई : राहुल गांधी

भारत के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार और अब अमेरिका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर कौशिक बसु के साथ बातचीत में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को लोगों के लिए खुद को खोलना और स्वयं को उनके सामने प्रस्तुत करना होगा। राहुल ने कहा कि मैंने हमेशा ही पार्टी को महत्व दिया है।

उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस में अंदरूनी लोकतंत्र को बढ़ावा देने की बात कई सालों से कर रहा हूं लेकिन मेरी ही पार्टी के लोग मेरे खिलाफ हो गए और मेरी आलोचना की गई।

राहुल ने कहा कि मैंने हमेशा युवा और छात्र संगठन में चुनाव को बढ़ावा दिया है, मैं पहला व्यक्ति हूं, जिसने पार्टी में लोकतांत्रिक चुनावों को महत्वपूर्ण माना है लेकिन मेरे ही लोग मुझे नहीं समझ पाए।

प्रोफेसर कौशिक बसु से बातचीत के दौरान राहुल ने कहा कि भाजपा के अहंकार से लड़ने के लिए कांग्रेस को बदलना होगा और विनम्र बने रहना होगा। इसके साथ ही राहुल ने कहा कि 2014 के बाद से विपक्ष सत्ता के लिए नहीं बल्कि भारत के लिए संघर्ष कर रहा है।

हालिया चुनावी हार के मद्देनजर कांग्रेस के लिए उनकी दृष्टि के बारे में पूछे जाने पर पार्टी के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि प्रतिरोधों को एकत्र करें और इसे एक साथ लाएं। सभी मोर्चों पर, विभिन्न प्रकार के लोगों का विरोध है… और कांग्रेस पार्टी को उनका सम्मान करने और उन्हें ग्रहण करने के लिए लचीला होना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here