फर्जी टूलकिट मामले में कांग्रेस ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा , स्मृति ईरानी , सम्बित पात्रा सहित कई नेताओं के खिलाफ दर्ज करवाया जालसाजी का शिकायत

भारतीय राजनीति में टूलकिट फिर एक बार चर्चा में है इस बार इसको लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच तनातनी बढ़ गई है जिसके बाद कांग्रेस ने भाजपा के नेताओ के खिलाफ पुलिस में जालसाजी का शिकायत दर्ज करवाया है।

कांग्रेस ने भाजपा पर कोरोना महामारी के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि बचाने के लिए ‘फर्जी टूलकिट’ तैयार करने का आरोप लगाते हुए सत्तारूढ़ पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा, उसके वरिष्ठ नेताओं बीएल संतोष, स्मृति ईरानी, संबित पात्रा तथा कई अन्य के खिलाफ दिल्ली पुलिस में ‘जालसाजी’ की शिकायत दर्ज कराई है।

साथ ही कांग्रेस ने यह भी कहा कि वह प्रमुख सोशल मीडिया मंचों के प्रबंधकों को पत्र लिखकर ‘झूठ फैलाने’ वाले इन वरिष्ठ भाजपा नेताओं के सोशल मीडिया अकाउंट खत्म करने का आग्रह भी करेगी।

कांग्रेस के मुताबिक, नयी दिल्ली के तुगलक रोड थाने में पार्टी के शोध विभाग के प्रमुख राजीव गौड़ा और सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख रोहन गुप्ता की तरफ से शिकायत दर्ज कराई गई।

पार्टी ने इस शिकायत में मांग की है कि ‘जालसाजी’ और ‘झूठ फैलाने’ के लिए इन वरिष्ठ भाजपा नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए।

इससे पहले, भाजपा ने कांग्रेस पर एक ‘टूलकिट’ के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल करने के प्रयास का आरोप लगाया था।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भाजपा के आरोपों पर संवाददाताओं से बातचीत में दावा किया, ”भाजपा ने फर्जी टूलकिट तैयार किया है, ताकि एक बौने नेता की गढ़ी हुई छवि को बचाया जा सके, जबकि पूरा देश इनकी हकीकत जान चुका है। अब हर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का असली चेहरा देख चुका है।”

खेड़ा ने कहा, ”जो भी सरकार से सवाल करता है, उसका चरित्र हनन करने का प्रयास किया जाता है। कांग्रेस इस तरह के हथकंडों से डरने वाली नहीं है। हम जनता की आवाज उठाते रहेंगे और सरकार से कठिन प्रश्न पूछते रहेंगे।”

कांग्रेस के सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख रोहन गुप्ता ने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को ‘झूठ फैलाने’ के लिए सोशल मीडिया मंचों से हटाया जाना चाहिए तथा जल्द ही पार्टी की तरफ से सोशल मीडिया कंपनियों के प्रबंधकों को इस बारे में पत्र लिखा जाएगा।

कांग्रेस नेता और वकील अमन पंवार ने कहा कि अगर दिल्ली पुलिस इस शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज नहीं करती है तो फिर पार्टी की तरफ से अदालत का भी रुख किया जा सकता है।

इससे पहले, राजीव गौड़ा ने ट्वीट करते हुए लिखा था ” भाजपा ‘कोविड कु्प्रबंधन’ पर फर्जी टूलकिट का दुष्प्रचार कर रही है और इसे कांग्रेस के शोध विभाग से जोड़ रही है। हम जालसाजी को लेकर जेपी नड्डा और संबित पात्रा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा रहे हैं।”

गौड़ा ने यह दावा किया, ”हमारा देश कोविड की तबाही का सामना कर रहा है, ऐसे समय लोगों को राहत प्रदान करने की बजाय भाजपा बेशर्मी के साथ फर्जीवाड़ा कर रही है।”

गौतलब है कि भाजपा ने मंगलवार को कांग्रेस पर कोरोना महामारी के दौरान देशवासियों में भ्रम फैलाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल करने का आरोप लगाया था।

क्या है टूलकिट ?

दरसल ”टूलकिट” एक प्रकार का दस्तावेज होता है जिसमें अपने अभियान को आगे बढ़ाने के लिए बिंदुवार मुद्दे होते हैं। अभियान को धार देने के लिए इन्हीं मुद्दों पर विरोधियों को घेरने के लिए प्रचार-प्रसार किया जाता है। हाल ही में किसान आंदोलन के दौरान भी एक टूलकिट सामने आया था, जिसकी काफी चर्चा भी हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here