कश्मीर के हालिया स्थिति पर राहुल गांधी के आवास पर कांग्रेस नेताओं की हुई बैठक, कांग्रेस ने कहा मोदी सरकार के कुशासन ने कश्मीर को बनाया आतंक का अड्डा

कश्मीर में लक्षित हत्याओं के बाद कांग्रेस ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर के हालात पर चर्चा के लिए बैठक की। राहुल गांधी के आवास पर हुई बैठक में प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल, प्रदेश अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर और सीडब्ल्यूसी सदस्य तारिक हमीद कर्रा ने भाग लिया।

बैठक के बाद मीर ने कहा, “बैठक के दौरान मौजूदा स्थिति समेत सभी मुद्दों पर चर्चा हुई।”

कांग्रेस ने एक बयान में कहा, “मोदी सरकार की अक्षमता और कुशासन ने जम्मू-कश्मीर को आतंकवाद का अड्डा बना दिया है। नागरिकों के खिलाफ बढ़ती हिंसा पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की कमजोरी का परिणाम है।”

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि “कश्मीर में लगातार हो रही हत्या की घटनाएँ दुखद हैं। हमारे बिहार-यूपी के भी कुछ भाइयों को इस हिंसा का शिकार बनाया गया है। इस दुख की घड़ी में पीड़ित परिवारों को मेरी शोक संवेदनाएँ।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, “यह गंभीर चिंता का विषय है और सरकार को बताना चाहिए कि उनका क्या रुख है क्योंकि उन्होंने आश्वासन दिया था कि अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद आतंकवाद समाप्त हो जाएगा।”

श्रीनगर में रविवार को आतंकियों ने एक और गैर स्थानीय रेहड़ी-पटरी वाले की हत्या कर दी। उन्होंने पुलवामा जिले में एक गैर स्थानीय बढ़ई की गोली मारकर हत्या कर दी। इससे पहले शनिवार की शाम को आतंकवादियों ने श्रीनगर के ईदगाह पार्क के पास बिहार के एक गैर स्थानीय रेहड़ी विक्रेता अरविंद कुमार साह की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

आतंकवादियों ने 7 अक्टूबर को इसी क्षेत्र के एक सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालय के अंदर एक स्कूल के प्रिंसिपल और एक शिक्षक की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उस घटना से दो दिन पहले, एक प्रसिद्ध फार्मेसी मालिक एम.एल. बिदरू समेत एक बिहारी वेंडर और टैक्सी ड्राइवर को आतंकवादियों ने मार दिया था। कांग्रेस ने लक्षित हत्याओं पर सरकार की खिंचाई की और सीडब्ल्यूसी की बैठक के दौरान सोनिया गांधी ने कहा, “हाल के दिनों में, जम्मू-कश्मीर में हत्याओं में अचानक तेजी आई है। अल्पसंख्यकों को स्पष्ट रूप से लक्षित किया गया है। इसकी निंदा की जानी चाहिए।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here