यूपी चुनाव को लेकर प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, इस वादे से विपक्षी दलों को हो सकती है परेशानी

कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट देने के ऐलान के बाद उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अपनी ताकत दिखाने के लिए प्रदेश की बेटियों के लिए एक और बड़ा ऐलान कर दिया है।

प्रियंका ने कहा कि यदि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तो इंटर पास लड़कियों को स्मार्टफोन और स्नातक लड़कियों को इलेक्ट्रानिक स्कूटी दी जाएगी।

अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल पर प्रियंका ने लिखा- ‘कल मैं कुछ छात्राओं से मिली। उन्होंने बताया कि उन्हें पढ़ने व सुरक्षा के लिए स्मार्टफोन की जरूरत है। मुझे खुशी है कि घोषणा समिति की सहमति से आज UP कांग्रेस ने निर्णय लिया है कि सरकार बनने पर इंटर पास लड़कियों को स्मार्टफोन और स्नातक लड़कियों को इलेक्ट्रानिक स्कूटी दी जाएगी।’

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र हर राजनीतिक दल और नेता ने वादों की झड़ी लगा दी है। सूबे की सत्ता पर काबिज योगी सरकार ने जहां उच्च शिक्षा हासिल कर रहे छात्रों को निशुल्क स्मार्टफोन और टैबलेट मुहैया कराने का वादा किया है। वहीं प्रदेश के युवाओं के तकनीकी सशक्तीकरण के लिए यूपी कैबिनेट ने नि:शुल्क स्मार्टफोन और टैबलेट योजना के प्रस्ताव को मंजूरी भी दे दी है। इस योजना पर करीब तीन हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। समाजवादी पार्टी ने 2012 के विधानसभा चुनाव में 12वीं पास करने वाले छात्रों को फ्री लैपटॉप देने की घोषणा की थी। इसके बाद पार्टी ने इस चुनाव में जीत हासिल की। राजनीतिक विश्लेषकों ने माना कि लैपटॉप की घोषणा करना सपा के लिए जीत का एक अहम कारण साबित हुआ।

आम आदमी पार्टी ने यूपी में सरकार बनने पर 300 यूनिट तक फ्री बिजली देने का वादा किया है। लेकिन प्रियंका गांधी की ओर से बेटियों को इलेक्ट्रानिक स्कूटी देने का ऐलान पहली बार हुआ है। यूपी चुनाव को लेकर एक्टिव प्रियंका आधी आबादी को आकर्षित करने की कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। उनके इस वादे को इसी रूप में देखा जा रहा है। प्रियंका के इस वादे का असर यदि अधिक पड़ता है तो बीजेपी ही नही सपा-बसपा जैसे विपक्षी दलों को भी परेशानी हो सकता है।

प्रियंका गांधी ने आने वाले यूपी विधानसभा चुनाव में महिलाओं को कांग्रेस के 40 प्रतिशत टिकट देने का वादा किया है। दो दिन पहले लखनऊ में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में यह वादा करते हुए उन्होंने कहा कि वह चाहती हैं कि महिला जाति, धर्म से ऊपर उठकर एकजुट हों और अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ने के लिए आगे आएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here