धर्म संसद में जहरीले बयानबाजी पर सचिन पायलट का पलटवार, कहा “जब-जब चुनाव आते है ऐसे बयानों से टकराव पैदा करने की कोशिश की जाती है”

धर्म संसद के नाम पर जहरीले बयानबाजी से देश की राजनीति में फिर एक बार बयानबाजी का दौर बढ़ गया है। पहले हरिद्वार धर्म संसद में जहरीले बोल और फिर छत्तीसगढ़ के रायपुर धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ बयानबाजी को लेकर भले ही देश की सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी चुप्पी साधे हुए है मगर कांग्रेस पार्टी बेहद तीखे अंदाज में विरोध दर्ज कर रही है।

इस सिलसिले में कांग्रेस के नेता और राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने नही इन बयानों पर नाराजगी व्यक्त की है। सचिन पायलट ने कहा कि देश की संसद तो चलती नहीं और धर्म संसद के नाम पर धर्म का चोला ओढ़े लोग इस तरह की भाषा बोल रहे हैं और महात्मा गांधी का अपमान और गोडसे की बड़ाई कर रहे हैं।

सचिन पायलट ने कहा कि ये लोग इन बयानों से टकराव पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। व्यक्ति किसी भी धर्म का हो लेकिन अगर आप अशान्ति, हिंसा की बात करते हैं तो उसका खंडन ही करना चाहिए और किसी भी धर्म का व्यक्ति हो कार्यवाही होनी चाहिए। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को जो व्यक्ति अपमानित करता हो उसे आप कैसे धर्म गुरु बोल सकते हैं।

पायलट ने कहा जब-जब चुनाव आते हैं तो इस प्रकार की बातों को तूल दिया जाता है और हमेशा कुछ लोग धर्म, मस्जिद-मंदिर की बातों को तवज्जो इसलिए देना चाहते है क्योंकि डवलपमेंट पर आप वोट नहीं ले पा रहे हैं। सुर्खियों में आने के लिए आप कुछ भी बोल दीजिए और लोगों को भड़काएं और असल मुद्दों पर से लोगों को भृमित करें लेकिन जनता सब समझ रही है। अब बटवारा करने की कोशिश लोग नहीं होने देंगे क्योंकि अब मुद्दों पर लोग वोट करेंगे।

इससे पहले सचिन ने ट्वीट कर के भी हरिद्वार संसद पर अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा था “अहिंसा, एकता व भाईचारा सदैव हमारे देश की पहचान रही है। परंतु कुछ लोग षड्यंत्र व कुचक्र से देश में नफरत घोल कर अखंडता में दरार डालने का प्रयास कर रहे हैं। देश मे हिंसा व द्वेष का वातावरण उत्पन्न करने का दुष्प्रयास करने वाले इन असामाजिक तत्वों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही होनी चाहिए|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here