PM मोदी की फिरोजपुर में रैली हुई रद्द, कांग्रेस ने कहा खाली कुर्सी के कारण रद्द हुआ रैली

पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर में होने वाली रैली रद्द हो गई है। इस रैली के रद्द होने बाद कांग्रेस और बीजेपी आमने-सामने है।

जहां बीजेपी रैली के रद्द होने का कारण प्रधानमंत्री के सुरक्षा में चूक बता रही है तो वहीं कांग्रेस रैली में भीड़ न होने के कारण बीजेपी का भय बता रही है।

दरसल करीब दो साल बाद चुनावी मौसम में पंजाब के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सीमावर्ती राज्य में मौसम और किसानों का सामना करना पड़ा, नतीजतन फिरोजपुर में होने वाली उनकी रैली को रद्द कर दिया गया।

गृह मंत्रालय ने कहा कि करीब 20 मिनट तक इंतजार के बाद तय किया गया कि प्रधानंमत्री सड़क के रास्ते शहीद स्मारक जाएंगे। इस यातरा में करीब दो घंटे लगने वाले थे। लेकिन रास्ते में किसानों के विरोध के कारण रास्ता बंद था, जिसके चलते प्रधानमंत्री को वापस भठिंडा एयरपोर्ट लौटना पड़ा।

गृह मंत्रालय ने कहा है कि, “प्रधानमंत्री के सड़क के रास्ते जाने की सूचना पंजाब पुलिस को दे दी गई थी और उनके द्वारा सुरक्षा के जरूरी इंतजाम की जानकारी मिलने के बाद ही प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से रवाना हुए थे। लेकिन शहीद स्मारक से करीब 30 किलोमीटर पहले जब प्रधानमंत्री का काफिला एक फ्लाइओवर पर पहुंचा तो वहां प्रदर्शनकारी किसानों ने रास्ता जाम कर दिया था।” गृह मंत्रालय के मुताबिक प्रधानमंत्री का काफिला करीब 15-20 मिनट तक फ्लाइओवर पर फंसा रहा, जिसके बाद उन्हें वापस भठिंडा एयरपोर्ट ले जाने का फैसला हुआ। गृह मंत्रालय ने इसे प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक कहा है।

इस पूरे मामले पर कांग्रेस के तरफ से रणदीप सुरजेवाला ने जबाब दिया और कहा
प्रिय नड्डाजी, शांत और औचित्य की भावना को खोना बंद करें। कृपया याद रखें –

  1. पीएम की रैली के लिए 10,000 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए थे।
  2. सभी व्यवस्था SPG और अन्य एजेंसियों के साथ मिलकर की गई थी।
  3. हरियाणा/राजस्थान के भाजपा कार्यकर्ताओं की सभी बसों के लिए भी रूट बनाया गया था।
  4. पीएम ने हुसैनीवाला के लिए सड़क यात्रा करने का फैसला किया। सड़क मार्ग से यात्रा करना उनके मूल कार्यक्रम का हिस्सा नहीं था।
  5. किसान मजदूर संघर्ष समिति (KMSC) पीएम के दौरे का विरोध कर रही है और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत ने उनके साथ दो बार बातचीत की है।
  6. क्या आप जानते हैं कि KMSC और किसान पीएम मोदी का विरोध क्यों कर रहे हैं?
    उनकी मांगें हैं-
    • बर्खास्त MOS Home, अजय मिश्रा टेनी।
    • हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में किसानों के खिलाफ आपराधिक मामले वापस लिए जाये।
    • मरने वाले 700 किसानों के परिजनों को मुआवजा।
    • MSP पर समिति और एक त्वरित निर्णय।
  7. किसान आंदोलन के बाद मोदी सरकार ने इन वादों को पूरी तरह से नज़रअंदाज कर दिया।
  8. आखिर में रैली रद्द करने का कारण यह है कि मोदी जी को सुनने के लिए भीड़ ही नहीं थी।

दोषारोपण का खेल बंद करो और भाजपा के किसान विरोधी रवैये पर आत्मनिरीक्षण करो। रैलियां करें लेकिन पहले किसानों की सुनें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here