बिजली की किल्लत और बुलडोजर को जोड़ते हुए राहुल गांधी ने दी मोदी को नसीहत।

rahul gandhi

इस वक्त देश के कई राज्य बिजली संकट से जूझ रहे हैं। बिजली को लेकर जो समस्या इस वक्त उत्पन्न हुई है, इसको लेकर कई लोग सरकार को पिछले कुछ महीनों से लगातार आगाह कर रहे थे। लेकिन आखिरकार यह संकट अब देश के सामने विकराल रूप लेता जा रहा है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि मोदी सरकार को घृणा का बुलडोजर चलाना बंद करके बिजली संयंत्र चलाना शुरु कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने यह बात 20 अप्रैल 2022 को मोदी सरकार से कही थी। आज पूरे देश में कोयले और बिजली के संकट ने तबाही मचा दी है।

राहुल गांधी ने कहा है कि मैं फिर से कह रहा हूं कि यह संकट छोटे उद्योगों को तबाह कर देगा जिससे बेरोजगारी बढ़ जाएगी।

इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राज्यों को कोयला उपलब्ध कराना केंद्र सरकार का काम है। क्या दिशाहीन प्रदेश बीजेपी नेतृत्व केंद्र से पूछेगा कि वह मांग के अनुरूप कोयला उपलब्ध क्यों नहीं करा पा रहे हैं, जिससे 16 राज्यों में संकट पैदा हो गया है?

आपको बता दें कि दिल्ली के उर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि कोयले की भारी कमी का मुख्य कारण पर्याप्त संख्या में रेकों की कमी थी। उन्होंने कहा कि रेलवे रेकों की संख्या बढ़ाने के बजाय 450 से घटाकर 405 कर दी गई है।

आपको बता दें कि राहुल गांधी ने कोयले के संकट को लेकर पहले ही चेतावनी दी थी, लेकिन मोदी सरकार नहीं जागी थी और अब जब फिर से इस मुद्दे को राहुल गांधी उठा रहे हैं तो बीजेपी के तमाम नेता राहुल गांधी का मजाक उड़ा रहे हैं, न कि इस समस्या से निजात पाने में अपना समय व्यतीत कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here