उद्धव ठाकरे ने सुनाया आडवाणी और बाला साहब का किस्सा

Uddhav Thackeray

महाराष्ट्र में पहल लाउडस्पीकर और फिर हनुमान चालीसा को लेकर विवाद पैदा करके महाविकास आघाडी सरकार के खिलाफ लगातार हमले किए जा रहे हैं। हालांकि महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार दोनों ही मामलों पर आक्रामक नजर आई है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक इंटरव्यू में ताजा विवादों को लेकर खुलकर बातचीत की है और राज ठाकरे पर हमला किया है। इसके साथ ही उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री मोदी के बारे में एक क्वेश्चन शेयर किया है।

एक मीडिया संस्थान से बातचीत करते हुए उद्धव ठाकरे ने राज ठाकरे द्वारा चलाए जा रहे हैं लाउडस्पीकर हटाओ अभियान पर कहा है कि, कुछ लोग हैं जो झंडे बदलते रहते हैं। पहले वह गैर मराठी लोगों पर हमला करने की कोशिश करते हैं। अब वह गैर हिंदुओं पर हमला कर रहे हैं। मार्केटिंग का जमाना है, यह भी नहीं चला तो कुछ और।

गोधरा दंगों के बाद का किस्सा शेयर किया

इस इंटरव्यू में बातचीत के दौरान उद्धव ठाकरे ने गोधरा दंगों के बाद का एक किस्सा शेयर किया। उन्होंने कहा कि गोधरा दंगों और गुजरात हिंसा के बाद एक कैंपेन चला था मोदी हटाओ। इस दौरान जब लालकृष्ण आडवाणी ने बाला साहेब से पूछा था कि क्या मोदी को हटा दिया जाना चाहिए? आपको क्या लगता है? तब बालासाहेब ने कहा था कि उन्हें मत छुओ, मोदी गया तो गुजरात गया। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि मेरे अभी भी मोदी के साथ संबंध है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि गठबंधन होगा।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि सीबीआई और ईडी सरकार के लिए राजनीतिक बदला ले रही है। उनका काम देश के दुश्मनों से लड़ना है। पिछले 7 सालों में हमने चीन के खिलाफ एक शब्द नहीं कहा है, उन्होंने हमारी जमीन पर कब्जा कर लिया है। सिर्फ पाकिस्तान पर हमला किया जाता है और लोगों को विश्वास दिलाया जाता है कि सब ठीक है।

आपको बता दें कि राज ठाकरे द्वारा लगातार हिंदुत्व के मुद्दे पर शिवसेना पर हमला किए जाने के बाद भी शिवसेना आक्रामक मूड में नजर आ रही है और उद्धव ठाकरे लगातार राज ठाकरे और बीजेपी को लेकर बयान बाजी कर रहे हैं। राज ठाकरे द्वारा लगातार जवाब दिए जाने के बाद ऐसा लग नहीं रहा है कि शिवसेना किसी भी परिस्थिति में झुकने के लिए तैयार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here