राज्यसभा में बढ़ेगी कांग्रेस की ताकत, उच्च सदन जाने के लिए ये नेता हैं रेस में !

कांग्रेस अगले महीने होने वाले राज्यसभा चुनाव में 11 सीट हासिल कर सकती है और इनके लिए पी चिदंबरम और जयराम रमेश समेत कई नेता दावेदारों की दौड़ में शामिल हैं। अगर कांग्रेस को 11 सीट मिलती हैं तो फिर उच्च सदन में उसके सदस्यों की संख्या 33 हो जाएगी जो फिलहाल 29 है।

सूत्रों का कहना है कि गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, मुकुल वासनिक, रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन और राजीव शुक्ला समेत कई वरिष्ठ नेता राज्यससभा के लिए उम्मीद लगाए हुए हैं। चिदंबरम (महाराष्ट्र), रमेश (कर्नाटक), अंबिका सोनी (पंजाब), विवेक तन्खा (मध्य प्रदेश), प्रदीप टम्टा (उत्तराखंड), कपिल सिब्बल (उत्तर प्रदेश) और छाया वर्मा (छत्तीसगढ़) का राज्यसभा का कार्यकाल पूरा हो रहा है।

सिब्बल ने बुधवार को समाजवादी पार्टी के समर्थन से राज्यसभा के लिए निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उत्तर प्रदेश से नामांकन भी दाखिल कर दिया। उनका कहना है कि उन्होंने 16 मई को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। मौजूदा गणित के हिसाब से कांग्रेस को राजस्थान से तीन, छत्तीसगढ़ से दो, महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा और मध्य प्रदेश से राज्यसभा की एक-एक सीट मिल सकती है।

अगर तमिलनाडु में सत्तारूढ़ द्रमुक और झारखंड में झामुमो एक-एक सीट देती है तो फिर कांग्रेस को दो और सीट मिल सकती हैं। सूत्रों का कहना है कि चिदंबरम अपने गृह राज्य तमिलनाडु से राज्यसभा पहुंचने की उम्मीद लगाए हुए हैं। उन्होंने द्रमुक के नेता और मुख्यमंत्री एमके स्टालिन से मुलाकात भी की है।

बहरहाल, यह भी चर्चा है कि राहुल गांधी की टीम कांग्रेस के डाटा विश्लेषण विभाग के प्रमुख प्रवीण चक्रवर्ती को तमिलनाडु से राज्यसभा भेजने के लिए जोर लगा रही है। कर्नाटक से अगर रमेश की उम्मीदवारी पर मुहर लगती है तो उनका राज्यसभा में यह चौथा कार्यकाल होगा। वैसे सुरजेवाला को भी कर्नाटक से राज्यसभा के दावेदार के तौर पर देखा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here