BJP नेता के बिगड़े बोल : अग्निपथ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्रों को BJP MLA ने बताया जिहादी !

बिहार में अग्निपथ भर्ती को लेकर हंगामे के बीच BJP नेताओं के बोल बिगड़ रहे हैं। एक तरफ केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने प्रदर्शनकारियों को आततायी बता दिया तो वहीं अब विधायक हरि भूषण बचौल ने उन्हें जिहादी कह दिया है। उन्होंने कहा, ‘अग्निपथ योजना का विरोध करने वाले जिहादी हैं। यह समीकरणवादी हैं। यह कभी भी देश प्रेमी नहीं हो सकते हैं।’

BJP विधायक ने साफ कहा, ‘बहुत देश है जहां आर्मी जॉइन करना अनिवार्य होता है। हम मौका दे रहे हैं। मिथिला यूनिवर्सिटी में 6 साल में बीए की डिग्री मिलती है। हम 4 साल में पैसा भी देंगे, डिग्री भी देंगे। यहां ITI की डिग्री लोग खरीदते हैं। इंजीनियरिंग की डिग्री खरीदते हैं। हम ट्रेन भी करेंगे, रोजगार भी देंगे, अन्य नौकरियों में आरक्षण भी देंगे। ऐसी व्यवस्था पर यदि प्रश्न उठा रहे हैं, यह अच्छी बात नहीं है। आप ट्रेन जला रहे हैं। आप हमारे नेताओं के घर पर गैस सिलेंडर फेंक रहे हैं, जो लोग यह कर रहे हैं, वह गुमराह युवा हैं। उनको गुमराह किया जा रहा है।’

हरि भूषण बचौल ने बयान में कहा कि जो आंदोलन कर रहे हैं, वह जिहादी लोग हैं। समीकरणवादी लोग हैं, जो समीकरण बनाकर सरकार बनाते थे, वह लोग हंगामा करा रहे हैं। जो युवा हैं, जिनके शरीर में देश सेवा करने का जज्बा है, वह सारे युवा खुश हैं। यह जानबूझकर हंगामा कराया जा रहा है। यह सेना की नौकरी नहीं है, ये सेवा है। जिसमें हिम्मत है वही ज्वाइन करेंगे। जो सुख-सुविधा खोज रहे हैं, उनको सेना में कोई जगह नहीं दी जाएगी।

वहीं, गिरिराज सिंह ने देहरादून के एक कार्यक्रम में कहा, ‘आतताइयों ने अति कर दी बिहार में…।’ उन्होंने कहा, ‘राजनीतिक दलों ने युवाओं को भ्रमित करने का प्रयास किया है, जो एक ओछी राजनीति है। अब एक की जगह तीन और को रोजगार मिलेगा। युवा चार साल की ट्रेनिंग के बाद एंप्लॉयमेंट के लिए तैयार हो जाएगा। देश में नकारात्मक राजनीति करने वाले भ्रम फैला रहे हैं।’

यही नहीं शुक्रवार को BJP प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने भी बिहार प्रशासन पर हमला किया था। उन्होंने कहा, ‘मेरे घर को उड़ाने की साजिश थी और यह सारी बातें स्थानीय प्रशासन की नजर में थी। जिस तरह की कार्यवाही होनी चाहिए थी, उस तरह की कार्यवाही नहीं हुई।’

उन्होंने कहा, ‘जो भीड़ मेरे घर पर हमला करने आई थी वह आर्मी में जाने वाली भीड़ नहीं थी। वह सेना की तैयारी करने वाले लोग नहीं थे। मैंने सभी लोगों को देखा है और मैंने सभी लोगों की पहचान कर ली है। लगभग 100 लोगों की पहचान कर लिया है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here