महाराष्ट्र के बदलते राजनीतिक सरगर्मी के बीच कांग्रेस ने कमलनाथ को बनाया महाराष्ट्र का पर्यवेक्षक

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को कांग्रेस ने महाराष्ट्र सरकार को बचाने की जिम्मेदारी सौंपी है। इसी क्रम में महाराष्ट्र में हालिया राजनीतिक घटनाक्रम के मद्देनजर कांग्रेस ने कमलनाथ को राज्य में पार्टी का पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। पार्टी की ओर से जारी पत्र में लिखा है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने कमलनाथ को महाराष्ट्र में हालिया राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुए एआईसीसी का पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।

बता दें कि महाराष्ट्र में राजनीतिक हलचल जारी है। शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे की कथित नाराजगी को लेकर महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल पैदा हो गई है। ऐसी खबरें सामने आई हैं कि महाराष्ट्र सरकार के मंत्री शिंदे मुंबई में नहीं हैं बल्कि कुछ विधायकों के साथ गुजरात के सूरत शहर के एक होटल में वह डेरा डाले हुए हैं। बाद में शिवसेना नेता संजय राउत ने मुंबई में पत्रकारों से कहा कि यह सच है कि विधान परिषद चुनाव के बाद सोमवार की रात कुछ विधायकों से संपर्क नहीं हो सका, लेकिन पार्टी अब उनमें से कुछ तक पहुंचने में सफल रही है।

उन्होंने कहा, “एकनाथ शिंदे मुंबई में नहीं हैं, लेकिन उनके साथ संपर्क हो गया है।” हालांकि, राउत ने शिंदे के साथ जाने वाले विधायकों की संख्या के बारे में विस्तार से नहीं बताया। एक दिन पहले ही सत्तारूढ़ महा विकास आघाड़ी गठबंधन को महाराष्ट्र विधान परिषद चुनावों में हार से झटका लगा था। शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस एमवीए के घटक हैं।

इससे पहले राज्यसभा के चुनाव में सत्तारुढ़ गठबंधन को झटका लग चुका है। इस बीच भाजपा की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने ताजा राजनीतिक घटनाक्रमों के संबंध में मुंबई में पत्रकारों से चर्चा में कहा कि पार्टी इन घटनाओं पर नजर बनाए हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here