राहुल के सत्याग्रह पर सचिन ने कहा भाजपा के इस घमंड और तानाशाही को चकनाचूर करके रहेंगे

नेशनल हेराल्ड मामले में प्रवर्तन निदेशालय आज फिर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी से पूछताछ कर रही है। राहुल गांधी से पूछताछ का आज तीसरा दिन है। राहुल गांधी से ईडी ने सोमवार को करीब 8.30 घंटे पूछताछ की थी तो वहीं दूसरे दिन मंगलवार को यह पूछताछ दस घंटे से भी ज्यादा चली थी। वहीं दूसरी ओर पिछले दो दिनों से देश के अलग-अलग हिस्सों में कांग्रेस का प्रदर्शन जारी है। जिसको देखते हुए राजधानी में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। कांग्रेस के दिग्गज नेताओं का दल इस बात के लिए लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साध रहा है।

कांग्रेस के लोकप्रिय नेता सचिन पायलट ने कहा कि ‘एक राजनीतिक दल के रूप में हम अपना विरोध जता रहे हैं, हमने कोई भी सीमा पार नहीं की है लेकिन सरकार और सत्तारूढ़ दल का व्यवहार, रवैया, कार्य निंदनीय है और हम इसे स्वीकार नहीं करेंगे, जांच से कोई नहीं डरता है।’

इंडिया टूडे से बात करते हुए सचिन पायलट ने कहा कि ‘हमारी ओर से कोई आक्रामकता नहीं है। हम अपने कार्यालय से ईडी कार्यालय तक एक साधारण ‘सत्याग्रह यात्रा’ चाहते थे जो इस बात का प्रतीक हो कि हम किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हैं। लेकिन पुलिस ने जो कार्रवाई की है उसे देखें, जो कुछ भी हो रहा है उसकी मैं निंदा करता हूं।’

उन्होंने साफ तौर पर कहा कि ‘पुलिस के बल पर ये हमारी आवाज को दबा नहीं सकते। पायलट ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी को ईडी के समन के विरोध में प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठी बरसाना गलत है, इसके लिए सरकार को शर्म आनी चाहिए।’

इससे पहले सचिन पायलट ने ट्वीट किया था कि ‘राहुल गांधी जी व कांग्रेस पार्टी के बुलंद हौसलों के आगे भाजपाई हुकूमत बौखला गई है, लेकिन हम ना डरने वाले हैं और ना ही झुकने वाले हैं। भाजपा के इस घमंड और तानाशाही को चकनाचूर करके रहेंगे। पुलिस के बल पर ये हमारी न्याय और सत्य की आवाज को दबा नही सकते।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here