गोवा के सियासी घटनाक्रम के बीच लोबो के पद से हटाने के बाद सोनिया गांधी ने मुकुल वासनिक को गोवा भेजा !

महाराष्ट्र में सियासी ड्रामा अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि अब गोवा में कांग्रेस के विधायक बगावत पर उतर आए हैं। कांग्रेस पार्टी में सब कुछ सही होने का दावा तो कर रही, लेकिन उसके पांच विधायक गायब चल रहे।

प्रदेश हाईकमान ने उनसे संपर्क करने की बहुत कोशिश की, लेकिन बात नहीं बनी। खबर ये भी आ रही कि ये पांचों विधायक बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए कांग्रेस हाईकमान ने अब गंभीर फैसले लेने शुरू कर दिए हैं।

दरअसल 10 मार्च को ही गोवा विधानसभा चुनाव के रिजल्ट आए थे। जिसमें बड़ी मुश्किल से कांग्रेस के 11 विधायक जीत पाए। अब चार महीने बाद ही वहां पर हालात बदल गए। करीब 5-6 विधायकों के बीजेपी में शामिल होने की संभावना है। जिसको देखते हुए नेता प्रतिपक्ष की भूमिका निभाने वाले माइकल लोबो को कांग्रेस ने उनके पद से तुरंत हटा दिया। कांग्रेस का आरोप है कि लोबो पार्टी को कमजोर करना चाहते हैं। साथ ही वो दिगंबर कामत के साथ मिलकर साजिश रच रहे। इसी वजह से पार्टी के 3 अन्य विधायक भी बगावत पर उतर आएं, इसके लिए बीजेपी ने उन्हें 40 करोड़ का ऑफर दिया है।

कांग्रेस हाईकमान हालात पर करीब से नजर बनाए हुए है। जिसके तहत रविवार को सोनिया गांधी ने सांसद मुकुल वासनिक को गोवा जाने का निर्देश दिया। मामले में कांग्रेस नेता के.सी. वेणुगोपाल ने ट्वीट कर लिखा कि गोवा में चल रहे राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुए सोनिया गांधी ने वासनिक को पणजी जाने को कहा है। वो वहां पर चल रहे घटनाक्रम की निगरानी करेंगे।

वैसे मीडिया के सामने लोबो बीजेपी में जाने की खबरों को अफवाह बता रहे थे, लेकिन रविवार को उन्होंने मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत से मुलाकात की। जिससे बगावत की बात को और ज्यादा बल मिला है। वहीं मुलाकात के बाद सीएम सावंत ने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में कई लोग मुझसे मिलने आते हैं। सोमवार को विधानसभा सत्र है, लोग मुझसे मिलने आए थे। मैं अपने विधानसभा के काम में व्यस्त हूं, मैं अन्य पार्टियों से जुड़े मुद्दों पर टिप्पणी क्यों करूंगा?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here