हरियाणा में खनन माफिया द्वारा DSP को कुचल कर मारे जाने को लेकर BJP सरकार पर हमलावर हुए कांग्रेस नेता

हरियाणा में मेवात के नूंह इलाके में तवाडू डीएसपी सुरेंद्र सिंह विश्नोई को डंपर से कुचल दिया गया। अवैध खनन मामले की जांच करने के लिए वे नूंह इलाके में गए थे जहां माफियाओं ने डंपर से उनको सीधी टक्कर मारी।

घटनास्थल पर ही डीएसपी ने दम तोड़ दिया। मंगलवार को हुई इस घटना के बाद हरियाणा सरकार हिली हुई है। गृह मंत्री अनिल विज ने इस घटना में लिप्त दोषियों से सख्ती से निपटने के निर्देश पुलिस को दिए हैं। वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि डीएसपी सुरेंद्र सिंह विश्नोई को शहीद का दर्जा देकर उनके परिवार को 1 करोड़ रु की आर्थिक मदद दी जाएगी। शहीद के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की बात भी मुख्यमंत्री ने कही है।

उधर, इस घटना को लेकर विरोधी दल कांग्रेस के नेताओं ने मनोहर सरकार को घेरा है। हरियाणा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपिंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि बहुत ही हृदयविदारक घटना है। इससे पता चलता है कि अभी प्रदेश में कानून व्यवस्था की क्या हालत है। हर आदमी यहां असुरक्षित महसूस कर रहा है। सरकार को फिर से उनका विश्वास जीतने के लिए सख्त कदम उठाने होंगे। यह बहुत शर्मनाक है कि खनन माफिया हाथ से निकल चुके हैं।

प्रदेश में कानून व्यवस्था खराब हो रही है। विधायकों को धमकियां मिल रही हैं, पुलिस भी प्रदेश में सुरक्षित नहीं रही। ऐसे में आम जनता खुद को कैसे सुरक्षित महसूस कर सकती है? सरकार को इस पर तुरंत एक्शन लेने की जरूरत है

।कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने डीएसपी हत्याकांड पर कहा कि हरियाणा की कानून व्यवस्था की शवयात्रा निकल रही है। सरकार पूरी तरह से फेल है। खनन माफिया और संगठित तौर पर अपराध करने वाले गैंगस्टर्स खुलेआम घूम रहे हैं। यह भी बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि पिछले दस दिनों में हरियाणा के पांच विधायकों को जान से मारने की धमकियां मिली हैं। हरियाणा सरकार न तो अभी तक अपराधियों को पकड़ पाई है और न ही विधायकों को सुरक्षित माहौल दे पा रही है। खनन माफियाओं ने जो किया है, उसको लेकर मुख्यमंत्री को जिम्मेवारी लेनी चाहिए और प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर श्वेत पत्र जारी करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here