कांग्रेस और राहुल गांधी के खिलाफ Fake News फैलाने वाले को पवन खेड़ा की चेतावनी, अब किया ये हड़कत तो पीढ़ियों तक याद रखना पड़ेगा

राहुल गांधी के खिलाफ एक चैनल द्वारा भ्रामक वीडियो चलाने और इस वीडियो को बीजेपी नेताओं द्वारा सर्कुलेट करने पर कांग्रेस पार्टी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस से बात की।

उन्होंने कहा, “एक चैनल ने 1 जुलाई की रात 9 बजे के एक कार्यक्रम में हमारे नेता राहुल गांधी से संबंधित एक वीडियो प्रसारित किया था। फिर उस वीडियो को बीजेपी के कई नेताओं ने भी साझा किया। वास्तविक वीडियो में राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में एक कार्यक्रम में एसएफआई द्वारा की गई हिंसा का जिक्र कर रहे थे। लेकिन उनके बयान को इस चैनल ने बड़े शातिराना ढंग से काट छांटकर उदयपुर में हुई कन्हैया लाल की हत्या से जोड़कर दिखाया।”

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, “जब यह वीडियो प्रसारित हुआ तो मैंने और हमारे कुछ साथियों ने सोशल मीडिया पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई। हमने यह बताया कि यह वीडियो भ्रामक है। इसे गलत संदर्भ में पेश किया जा रहा है। आपत्ति दर्ज कराने के बाद उस चैनल ने माफी तो मांग ली, लेकिन बीजेपी के नेता अभी भी राहुल जी की छवि को खराब करने के लिए उस वीडियो को सर्कुलेट कर रहे हैं। बीजेपी नेताओं के सोशल मीडिया हैंडल पर अभी भी वह वीडियो मौजूद है।”

उन्होंने कहा, “वीडियो को सर्कुलेट करने वालों में प्रमुख हैं, पूर्व केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़। इनके अलावा अन्य बीजेपी नेता भी हैं। यह स्पष्ठ होने के बावजूद कि यह वीडियो भ्रामक है, बीजेपी के सांसद, पूर्व सूचना प्रसारण मंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर बड़ी ही बेशर्मी से अपलोड किया।”

पवन खेड़ा ने कहा, “यह पहला मौका नहीं, इससे पहले भी राहुल गांधी की छवि को खराब करने के लिए बीजेपी ने ऐसे कई वीडियो सर्कुलेट किए हैं। आपको याद होगा, आलू से सोना वाला बयान, यह किसके शब्द थे? माननीय नरेंद्र मोदी जी के शब्द थे। राहुल गांधी दोहरा रहे थे, गुजरात की रैली में। बड़े ही सुनियोजित तरीके से यह जो 18-18 घंटे जागते हैं यही काम करने के लिए वह जागते हैं। इनसे इस देश को सावधान रहना है।”

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, “अच्छी खबर यह है कि इस भ्रामक वीडियो के खिलाफ राजस्थान के जयपुर में एक एफआईआर दर्ज हुई है। जो एंकर थे उन्होंने माफी तो मांगी, लेकिन वीडियो हटाने के बाद भी जो उन्हें बधाई संदेश ट्विटर पर आ रहे थे कि साहब आपने बड़ा अच्छा कार्यक्रम किया, उसे वह लाइक किए जा रहे थे। एक तरफ तो वीडियो हटा दिया, दूसरी तरफ वह बधाइयां स्वीकार कर रहे थे। परसों रात को ही उन्होंने अपनी गलती स्वीकार कर ली थी। उसके बाद भी वह बधाई स्वीकार करते रहे।”

पवन खेड़ा ने कहा, “इस तरह की हरकतें पहले भी हो चुकी हैं। तीन-चार बार यह चैनल, कई और चैनल भी। हमने उन्हें कानूनी नोटिस दिया। कार्रवाई की बात कही। फोन करके कहते हैं कि साहब गलती से हो गया। वीडियो को हटा देते हैं। लेकिन जो नुकसान होना होता है वह हो चुका होता है। मैं यह कहना चाहता हूं कि यह जो हमारी शराफत है, वह हमारा गहना है, बेड़ियां नहीं हैं। बीजेपी यह खास तौर से सुन ले कि आज के बाद एक व्यक्ति भी हमारी पार्टी, हमारे नेता, हमारी विरासत के खिलाफ एक भी शब्द बोलेगा, एक तथ्य तोड़ मरोड़कर पेश करेगा तो उन्हें कई पीढ़ियों तक याद रखना पड़ेगा। यह चेतावनी बीजेपी मान ले तो उचित रहेगा। जिन सांसदों और पूर्व मंत्रियों ने अपने सोशल मीडिया पर इस वीडियो को रखा है, वह सुन लें कि उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here