मध्यप्रदेश में सभी निगम, मंडल व प्राधिकरण के पदाधिकारी हटाए गए

भोपाल। सत्ता परिर्वतन के बाद भी पद पर डटे शिवराज सरकार के चहेते निगम मंडल अध्यक्ष, उपाध्यक्ष को कमलनाथ सरकार ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है. कमलनाथ सरकार ने प्रदेश के सभी 29 निगम मंडलों, प्राधिकरण के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष सहित सभी नियुक्तियों को निरस्त कर दिया है.
दरअसल सरकार अपने चहेतों को निगम मंडल, प्राधिकरणों में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बनाकर उपकृत करती है. इनका दर्जा राज्य और कैबिनेट मंत्री दर्जे का होता है. सत्ता बदलने के बाद भी करीब एक दर्जन निगम मंडलों के अध्यक्ष अभी भी पद पर जमे हुए थे.

मध्यप्रदेश खनिज विकास निगम के अध्यक्ष शिव चौबे, हाउसिंग बोर्ड के चेयरमेन कृष्ण मुरारी मौघे, एग्रो कारपोरेशन के अध्यक्ष राम किशन चौधरी, माटीकला बोर्ड के अध्यक्ष राम दयाल प्रजापति, ऊर्जा विकास निगम के अध्यक्ष बिजेन्द्र सिंह सिसोसिया, मध्यप्रदेश कर्मचारी कल्याण के रमेश शर्मा सहित कई और निगम मंडल में अध्यक्ष उपाध्यक्ष पद पर जमे हुए थे।

कमलनाथ के इस आदेश के पहले ही कई मंडलों व निगम के अध्यक्ष अपने-अपने पदों से इस्तीफा दे चुके हैं. जो शेष रह गए थे, उनके मनोनयन को खत्म करने के आदेश बुधवार को दिए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here