सोनिया ने लेख के माध्यम से कहा ये राजनीति का वक्त नही , सरकार मनरेगा के माध्यम से करे लोगो की मदद

देश में फैले कोना महामारी के बीच कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी लगातार तीन सरकार को पत्र लिखकर कोरोना महामारी और देश में बढ़ रही आर्थिक संकट को लेकर सरकार को सलाह देती रही हैं उन्होंने फिर एक बार अंग्रेजी अखबार में लिखे अपने एक लेख के माध्यम से सरकार को सलाह और नसीहत दी है।

कोरोना संकट से जूझ रहे देश की स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुये सोनिया गांधी ने सरकार से मांग की है कि लोगों की मदद के लिये मनरेगा स्कीम का इस्तेमाल किया जाये।

सोनिया गांधी ने कहा कि यह बीजेपी बनाम कांग्रेस की बात नहीं है, लिहाजा मनरेगा जैसे ताकतवर प्रोग्राम का उपयोग कर सरकार देशवासियों की मदद करे।

सोनिया गांधी ने एक अंग्रेजी अखबार के लेख में लिखा है कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना एक क्रांतिकारी और तर्कसंगत व्यवस्था परिवर्तन का शानदार उदाहरण है. सोनिया ने लिखा, ”यह क्रांतिकारी है क्योंकि इसने गरीब से गरीब व्यक्ति को सत्ता हस्तांतरित की और उन्हें भूख और अभाव से बचने में सक्षम बनाया. यह तर्कसंगत है क्योंकि यह उन लोगों के हाथों में सीधे पैसा डालता है जिन्हें इसकी सबसे ज्यादा जरूरत होती है.”

मनरेगा की आवश्यकता को बताते हुये सोनिया गांधी ने लिखा कि मौजूदा वक्त में जब देश कोरोना वायरस से जूझ रहा है, ऐसे में इस संकट की घड़ी में भुखमरी और बर्बादी को रोकने के लिये ये योजना बेहद अहम है.

सोनिया गांधी ने सरकार से कहा कि ये संकट का समय है, राजनीति का नहीं. ये कांग्रेस बनाम बीजेपी का मुद्दा नहीं है. मनरेगा के रूप में सरकार के पास एक शक्तिशाली सिस्टम है, भारतवासियों के लिये उसका इस्तेमाल करें.

गौरतलब है कि जब से कोरोना वायरस संकट पैदा हुआ है, कांग्रेस पार्टी की तरफ से लगातार मजदूरों-गरीबों को सीधे पैसा देकर मदद पहुंचाने की मांग की जा रही है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत पूरी पार्टी एकमत होकर सरकार से ये मांग रही है कि जो जरूरतमंद हैं उन्हें संकट की इस घड़ी में सीधे हाथ में पैसा दें. इसी कड़ी में अब सोनिया गांधी ने यूपीए सरकार के दौरान शुरू की गई मनरेगा योजना का इस्तेमाल कर गरीब-मजदूर की मदद करने की मांग की है।

इससे पहले राहुल गांधी भी अपने वीडियो संवादों में भी सरकार से इस प्रकार की लगातार मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here